अमेरिका ने एक हफ्ते में किया दूसरी बार मिसाइल परीक्षण, जानिए क्यों

Feb 27 2016 10:00 AM
अमेरिका ने एक हफ्ते में किया दूसरी बार मिसाइल परीक्षण, जानिए क्यों

कैलिफोर्निया : अमेरिका ने एक सप्ताह के भीतर दो बार इंटरकॉन्टिनेंटल न्यूक्लियर बैलिस्टिक मिसाइल टेस्ट किया है। कहा जा रहा है कि अमेरिका द्वारा ऐसा करने का कारण चीन, रुस औऱ नॉर्थ कोरिया को अपनी क्षमता से परिचित कराना है। इस बात को स्वंय अमेरिका के डिप्टी डिफेंस मिनिस्टर ने कबूला है।

उन्होने कहा है कि हमने ये टेस्ट इसलिए किया है, ताकि तीनों देशों को हमारी ताकत के बारे में साफ संदेश पहुंच सके। रॉयटर्स के अनुसार, अमेरिका ने शुक्रवार को कैलिफोर्निया में मिनटमैन-111 मिसाइल का परीक्षण किया है। यह मिसाइल 24000 किमी/घंटा के हिसाब से आसमान की ओर गई।

दागे जाने के आधे घंटे बाद इस मिसाइल ने 65000 किमी की दूरी पर अपने टारगेट को हिट किया। इस मिसाइल से रुस, चीन और नॉर्थ कोरिया को इसलिए खतरा है, क्यों कि इसकी मारक क्षमता 10000किमी है। नॉर्थ कोरिया ने 7 फरवरी को लांग रेंज मिसाइल लांच किया था।

इससे पहले जनवरी में उतरी कोरिया ने हाइड्रोजन बम टेस्ट किया था। दूसरी ओर चीन के साथ अमेरिका का साउथ चाइना सी को लेकर टकराव चल रहा है, तो उधर रुस ने अमेरिका को वर्ल्ड वॉर की धमकी दी थी। इन्हीं सब कारणों के मद्देनजर अमेरिका ने किया है ये मिसाइल टेस्ट।

इन सबके अलावा एक चौथा कारण यह भी है कि अमेरिका की अपनी न्यूक्लियर पावर सुसुप्त होती जा रही है। इसी साल ओबामा सरकार ने 1.8 अरब डॉलर का बजट दिया है।