+

पाकिस्तान को एफ-16 बेचे जाने का रास्ता साफ़

पाकिस्तान को एफ-16 बेचे जाने का रास्ता साफ़

वाशिंगटन : अमेरीकी सीनेट द्वारा पाकिस्तान को 8 एफ- 16 विमानों की बिक्री करने पर आगे बढ़ने का निर्णय लिया हैं। दरअसल सीनेट ने इस तरह की बिक्री पर रोक लगाने वाले प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया है। सीनेट के 100 सदस्यों में से 71 ने इस तरह के प्रस्ताव के विरूद्ध वोटिंग की। इस मामले में 24 लोगों ने इसके पक्ष में वोट दिए। उल्लेखनीय हैं कि एफ-16 लड़ाकू जेट विमान लाॅकहीड मार्टिन काॅर्पोरेशन के बताए जा रहे हैं। भारत द्वारा पाकिस्तान को बेचे जाने वाले लड़ाकू विमानों की बिक्री का विरोध किया गया था।

दरअसल भारत का कहना था कि एक ओर अमेरिका पाकिस्तान में होने वाली आतंकी गतिविधियों का विरोध करने में लगा है तो दूसरी ओर वह पाकिस्तान को हथियारों के माध्यम से मदद कर रहा है यह बात समझ के परे है। यही नहीं भारत ने अमेरिकी राजदूत को निमंत्रिण दिया और उन्हें दिल्ली बुलाकर अपनी आपत्ती भी दर्ज करवाई। एफ - 16 लड़ाकू विमान की बिक्री के खिलाफ सीनेटर रैंड पाॅल द्वारा इस मामले में प्रस्ताव पेश किया गया। हाउस आॅफ रिप्रेजेंटेटिव्स की विदेश संबंधी कमेटी द्वारा ओबामा सरकार के निर्णय पर सवाल भी उठाए गए थे।

दरअसल 12 फरवरी को ओबामा प्रशासन ने पाकिस्तान को लड़ाकू विमान और राडार समेत अन्य उपकरण बेचे जाने का प्रस्ताव पास किया था। हालांकि कुछ सदस्यों ने इसका समर्थन किया तो कुछ ने विरोध किया। अभी भी इस प्रस्ताव पर कांग्रेस विचार कर सकती है। मगर अमेरिका की विदेश मंत्री जाॅन केरी ने इसके पक्ष में दलीलें भी पेश कीं थीं।