जितनी बोस्टन शहर की आबादी, उससे ज्यादा लोग अमेरिका में 'कोरोना' से मर गए

वाशिंगटन: अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आकर जान गंवाने वाले लोगों की तादाद रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है. शुक्रवार को देश में कोरोना मृतकों की तादाद 7,00,000 हो गई. हालांकि, ये ऐसे वक़्त पर हुआ है, जब डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant) के कारण संक्रमण के मामलों में गिरावट आई है और अस्पतालों के ऊपर से दबाव कम हो रहा है. 

अमेरिका में कोरोना से मरने वालों की संख्या को छह लाख से सात लाख पहुंचने में साढ़े तीन माह का समय लगा है. देश की अनवैक्सीनेटेड आबादी के बीच डेल्टा वेरिएंट के फैलने के कारण इसमें वृद्धि हुई है. अमेरिका में कोरोना से मरने वालों की संख्या बोस्टन शहर की आबादी से अधिक है. कोरोना से होने वाली मौतों की इतनी बड़ी तादाद सार्वजनिक स्वास्थ्य नेताओं और फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर्स के लिए विशेष तौर पर निराशाजनक है. ऐसा इसलिए क्योंकि पिछले छह माह से सभी योग्य लोगों के लिए वैक्सीन मौजूद है. 

इस बात के भी पुख्ता प्रमाण हैं कि टीका लगवाने के बाद अस्पतालों में एडमिट होने की दर और मृत्यु दर में गिरावट आती है. इसके बाद भी सात करोड़ वैक्सीन लगवाने योग्य अमेरिकी नागरिक ऐसे हैं, जिन्होंने अभी तक टीका नहीं लगवाया है. इस कारण इन लोगों के बीच वायरस तेजी से फैला है. टीका नहीं लगवाने वाले लोगों में ऐसे लोग भी शामिल हैं, जो इसे लेकर संदेह जता रहे हैं.

पाकिस्तान में भी कायम होगा 'तालिबान राज' ?

'इस्लामिक शासन चलाना हमसे सीखो..', तालिबान को क़तर की नसीहत

श्रीलंका में हटाया गया देशव्यापी लॉकडाउन, लेकिन अब भी जारी रहेंगी पाबंदियां

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -