क्या कभी अंतरिक्ष में घर बसा पाएगा इंसान ?

क्या कभी अंतरिक्ष में घर बसा पाएगा इंसान ?

आधुनिक समय में उम्मीद से भी तेजी से बहुत सारी चीजें बदलती जा रही है. वही, आज के मॉर्डन युग में सपने भी बिकते हैं इससे कोई इनकार नहीं कर सकता है. जो इंसान दूसरों के सपने खरीदने के लिए सोच सकता है या उसके लिए काम कर सकता है दुनिया की कोई ताकत उसे धनवान बनाने से नहीं रोक सकती.

नेपाल की संसद में संविधान संशोधन बिल पेश, नए नक़्शे में तीन भारतीय इलाके शामिल

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि धरती पर तो लोगों को सबकुछ मिल ही रहा है अब लोगों का सपना दूसरे ग्रह पर दुनिया बसाना रह गया है. अपने इस सपने को पूरा करने के लिए वो किसी भी तरह से खर्च करने को तैयार हैं. 1971 में दक्षिण अफ्रीका में जन्मे ईलॉन रीव मस्क ने लोगों के इस सपने को समझ लिया और वो अब इन सपनों के जरिए पैसा कमाकर दुनिया के रईसों की सूची में शामिल हो गए हैं. डीडब्ल्यूए वेबसाइट ने ईलॉन मस्क पर एक ऐसी ही स्टोरी कैरी की है.

'मौत की मंडी' में फिर शुरू हुआ धंधा, चीन ने खोला कोरोना फैलाने वाला वेट मार्केट

इसके अलावा ईलॉन मस्क फिलहाल तीन देशों के नागरिक हैं. ये देश हैं दक्षिण अफ्रीका, कनाडा और अमेरिका. दरअसल ईलॉन की मॉ माये मस्क मॉडल और डाइटीशियन थीं और उनके पिता ईरॉल मस्क इलेक्ट्रोमेकेनिकल इंजीनियर. ईलॉन मस्क का अपने पिता के साथ संबंध ठीक नहीं रहा, वो अपने पिता को एक बुरा इंसान बताते हैं. अपने माता पिता की तीन संतानों में वे सबसे बड़े हैं. वही, ईलॉन का बचपन अधिकतर किताबों और कंप्यूटर के बीच ही बीता. उनको पढ़ने का बहुत शौक था. इस वजह से उनके दोस्तों की कमी थी. हर वक्त चुप रहने की वजह से स्कूल के बच्चे उन्हें काफी परेशान भी करते थे. बताते हैं कि स्कूल छोड़ने के बाद ईलॉन के व्यक्तित्व में थोड़ा बदलाव आया वो लोगों के बीच उठने बैठने लगे और बातचीत भी करने लगे थे.

अमेरिका में अश्वेत की मौत को लेकर प्रदर्शन तेज, ट्रम्प ने प्रदर्शनकारियों को दी कड़ी चेतावनी

श्रीलंका: मंत्री के अंतिम संस्कार में उमड़ी भीड़, बढ़ा कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने पोस्ट की समोसे की फोटो, लिखा- पीएम मोदी के साथ शेयर करना चाहूंगा