उइगर मुस्लिमों के उत्पीड़न को लेकर अमेरिका का बड़ा एक्शन, 4 चीनी अधिकारियों पर लगाया प्रतिबंध

उइगर मुस्लिमों के उत्पीड़न को लेकर अमेरिका का बड़ा एक्शन, 4 चीनी अधिकारियों पर लगाया प्रतिबंध

वॉशिंगटन: चीन में उइगर मुस्लिमों पर लगातार जारी अत्याचार के खिलाफ अमेरिका ने सख्त रुख अपनाया है. अमेरिका ने एक चीनी संस्था समेत चार शीर्ष अफसरों को शिनजियांग प्रांत (Xinjiang region) में उइगरों पर अत्याचार का दोषी करार देते हुए उन पर प्रतिबन्ध लगा दिया है. अब ये अधिकारी और इनके परिवार के सदस्य अमेरिका में दाखिल नहीं हो सकेंगे.

अमेरिका द्वारा बैन किए गए अधिकारियों में शिनजियांग उइगर स्वायत्त क्षेत्र (XUAR) के चीनी कम्युनिस्ट पार्टी सचिव चेन क्वांगो (Chen Quanguo), पूर्व उप पार्टी सचिव झू हैलुन (Zhu Hailun),  शिनजियांग पब्लिक सिक्योरिटी ब्यूरो के पार्टी सचिव वैंग मिंगशान (Wang Mingshan) और पूर्व पार्टी सचिव हुओ लियुजुन (Huo Liujun) का नाम शामिल हैं.  US सरकार के इस आदेश में संबंधित चीनी अधिकारियों और संस्था को शिनजियांग उइगर स्वायत्त क्षेत्र में अल्पसंख्यकों के मानवाधिकार का उल्लंघन करने, उन्हें शारीरिक रूप से प्रताड़ित करने, बिना किसी अपराध के जेलों में कड़ी रखने आदि का दोषी करार दिया गया है. इस प्रतिबंध के तहत, आरोपी व्यक्तियों से आर्थिक या किसी भी किस्म का ताल्लुक रखने की मनाही है. 

अमेरिका के अनुसार, 2016 के बाद से, शिनजियांग प्रांत में बड़े स्तर पर अल्पसंख्यकों के खिलाफ मुहीम चलाई जा रही है. चीन सरकार जानबूझकर उइगर और अन्य अल्पसंख्यकों को टारगेट बना रही है. उन्हें अकारण हिरासत में रखा जाता है और यातनाएं की जाती हैं. 2017 के बाद से कम से कम दस लाख से ज्यादा मुसलमान शिविरों में रहने के लिए मजबूर हैं. 

नेपाल में कहर बनकर बरसी बारिश, अब तक 10 की मौत, 40 लापता

अमेरिका में पकड़ा गया भारतीय कारोबारी, जाने क्या है मामला

आखिर कब तक बचेगी पीएम केपी शर्मा की कुर्सी ? फिर टली नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक