'अंबानी-अडानी को गालियां भी देंगे और उनसे निवेश भी लेंगे..', ऐसे दोहरे क्यों चलते हैं राहुल गांधी ?

जयपुर: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सहित पार्टी के कई बड़े नेता लगातार अडानी, अंबानी को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोलते रहते हैं। राजस्थान में कांग्रेस पार्टी की सरकार है, मगर अडानी, अंबानी ने कांग्रेस शासित राज्य के सीएम अशोक गहलोत और उनकी सरकार से राज्य में 1 लाख 68 हजार करोड़ के निवेश का वादा किया है। एक RTI के जरिए यह जानकारी सामने आई है। RTI आवेदन के बाद राज्य के ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टमेंट प्रमोशन (BOIP) द्वारा प्रस्तुत किए गए डेटा से पता चलता है कि दो कॉरपोरेट घरानों (अडानी और अंबानी) ने दिसंबर 2021 और मार्च 2022 के बीच लेटर ऑफ इंटेंट (LOI) / समझौता ज्ञापन (MoU) में राज्य सरकार से 1.68 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का वादा किया था। 

राजस्थान में उद्योगपतियों द्वारा कुल 9,40,453 करोड़ रुपये के निवेश का वादा किया गया है और इसमें अंबानी-अडानी का लगभग 18 फीसद निवेश शामिल है। आंकड़ों के मुताबिक, रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (1,00,000 करोड़ रुपये), अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (60,000 करोड़ रुपये), अडानी इंफ्रा लिमिटेड (5,000 करोड़ रुपये), अडानी टोटल गैस लिमिटेड (3,000 करोड़ रुपये) और अदानी विल्मर लिमिटेड (246.08 करोड़ रुपये) द्वारा दिसंबर 2021 और मार्च 2022 के बीच निवेश का वादा किया गया था। निवेश के वादे कांग्रेस शासित राजस्थान में आए हैं। 

लेकिन इसके बाद भी पार्टी के लोकसभा सांसद राहुल गांधी ने केंद्र में भाजपा पर क्रोनी कैपिटलिज्म का आरोप लगाया। उन्होंने अडानी और अंबानी को भारतीय अर्थव्यवस्था में फैल रहा “डबल ए वेरिएंट” कहा और परिणामस्वरूप विभिन्न क्षेत्रों में एकाधिकार का इल्जाम लगाया। बता दें कि राहुल इससे पहले भी केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार पर इसी तरह का कटाक्ष कर चुके हैं। 

सत्ता संभालने के 3 माह बाद ही उपचुनाव हार गई AAP, केजरीवाल के लिए अशुभ संकेत

लालू यादव के हाथों से फिसल रहा मुस्लिम वोट बैंक, अब शाहबुद्दीन की पत्नी ने दिया RJD को झटका

'मुसलमानों को चाहिए कि..', रामपुर और आजमगढ़ में सपा की हार पर ओवैसी ने मुस्लिमों को दी नसीहत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -