बम-बम भोले के उद्घोष के साथ प्रारंभ हुई अमरनाथ यात्रा, 2 साल से कोरोना के चलते थी बंद

श्रीनगर: दक्षिण कश्मीर की पहाड़ियों में स्थित बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए गुरुवार (30 जून 2022) से अमरनाथ यात्रा का श्री गणेश हो चुका है। कोरोना महामारी के कारण 2 साल बाद प्रारम्भ हुई यात्रा में लोगों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। यह यात्रा 43 दिन तक जारी रहेगी। आज से शुरू हुई यात्रा का समापन 11 अगस्त को होगा। इस दौरान 7-8 लाख श्रद्धालुओं के दर्शन करने की सम्भावना जताई जा रही है।

 

कड़ी सुरक्षा के बीच कई भक्त पहलगाम और बालटाल बैस कैंप पहुँच गए हैं। पहलगाम में श्रद्धालुओं के पहले जत्थे का स्थानीय लोगों ने स्वागत किया। बाबा बर्फानी का दर्शन करने जा रहे यात्री ‘बम-बम भोले’ के जयकारे लगाते हुए आगे बढ़ रहे हैं। अमरनाथ यात्रियों के पहले जत्थे को प्रदेश के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने यात्री निवास जम्मू से झंडी दिखाकर रवाना किया। बता दें कि दो वर्षों के अंतराल के बाद दोबारा यात्रा आरम्भ की गई है, इसलिए जम्मू कश्मीर प्रशासन को इस साल भक्तों की तादाद सामान्य से अधिक होने की उम्मीद है। 4890 यात्रियों का जत्था जम्मू बेस कैंप से अमरनाथ गुफा के लिए निकल चुकी है।

भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच भक्तों के ठहरने के लिए कैंप में प्रबंध किए गए हैं। वहीं किसी भी प्रकार के हालात से निपटने के लिए जवान चारों तरफ तैनात हैं। चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। यात्रा पर आतंकी खतरे की आशंका को देखते हुए अधिकारियों ने सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए हैं।

केजरीवाल का दिल्ली मॉडल फेल ! मानसून की पहली बारिश में ही पानी-पानी हुई राजधानी, कई जगह चक्का जाम

प्रधानमंत्री ने बंगलौर में बॉश इंडिया के 'स्मार्ट' परिसर का उद्घाटन किया

2 जुलाई को यशवंत सिन्हा ,पीएम मोदी से करेंगे मुलाकात

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -