CM अमरिंदर सिंह ने किया केंद्र सरकार से आग्रह- 'जल्द करें किसान यूनियनों से बातचीत'

नई दिल्ली: केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान दिल्ली के करीब आ चुके हैं। ऐसे में आपको पता ही होगा कि दिल्ली पुलिस किसानों को अस्थाई जेलों में डालने की तैयारी कर रही थी लेकिन दिल्ली सरकार ने इससे साफ़ इंकार किया है। इस समय दिल्ली मेट्रो ने 6 स्टेशनों के एंट्री-एग्जिट गेट बंद कर दिए हैं और अब इसी बीच पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नया बयान दिया है। हाल ही मे उन्होंने अपने बयान में केंद्र सरकार से यह गुजारिश की है कि 'वे जल्द से जल्द किसान यूनियनों के साथ बातचीत करें ताकि दिल्ली की सीमा पर तनाव कम हो सके।'

आप सभी को हम यह भी बता दें कि केंद्र सरकार ने बातचीत के लिए 3 दिसंबर की तारीख तय की है। ऐसे में आज यानी शुक्रवार को मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने केंद्र से आग्रह करते हुए कहा है कि, 'हरियाणा में किसानों को जबरन रोकने के लिए किए गए प्रयासों से पैदा हुईं तनावपूर्ण स्थिति को रोकने के लिए किसान यूनियनों के साथ बातचीत तुरंत शुरू की जाए।' इसके अलावा उन्होंने यह भी सवाल किया है कि, 'असंतुष्टों की आवाज को हमेशा के लिए नहीं दबाया जा सकता है। स्थिति को संभालने के लिए 3 दिसंबर तक का इंतजार क्यों करें? दिल्ली की सीमाओं पर तनावपूर्ण स्थिति को टालने के लिए केंद्र को तुरंत ही किसान संघ के नेताओं के साथ बातचीत शुरू करनी चाहिए।'

आप सभी को बता दें कि मुख्यमंत्री ने हरियाणा सरकार की ओर से सीमाएं सील करने और किसानों को वहीं पर जबरन रोकने का भी विरोध किया है। उनका कहना है कि, 'किसान शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन कर रहे हैं और पिछले तीन महीनों में अपने विरोध प्रदर्शन के दौरान उन्होंने किसी तरह की हिंसा पैदा नहीं की, जिससे किसी भी तरह की कानून व्यवस्था की समस्या पैदा हुई हो। भारत सरकार को शांति से प्रदर्शन कर रहे किसानों पर हो रहे अत्याचारों को खत्म करने के लिए तुरंत कदम उठाने की जरूरत है।'

दिल्ली: कोरोना मरीजों का इलाज करते पकड़ा गया नकली डॉक्टर, असली डॉक्टर देता था पैसे

किसानों को समझाने की कोशिश में बोले पुलिस अधिकारी- मैं भी किसान का बेटा हूं

मालदीव में छुट्टियों के साथ सोनाक्षी की खुशियों में लगे चार चाँद, पोस्ट शेयर कर कही ये बात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -