वीएसपी संघ अध्यक्ष ने कहा- "उक्कू आंदोलन में भाजपा को छोड़कर सभी राजनीतिक..."

विशाखापत्तनम: विशाखा उक्कू परीक्षण पुरता समिति के अध्यक्ष सी नरसिम्हा राव ने मांग की कि केंद्र सरकार वीएसपी के निजीकरण के लिए कानूनी सलाहकारों की नियुक्ति की प्रक्रिया को वापस ले और चेतावनी दी कि कानूनी सलाहकारों को वीएसपी परिसर का दौरा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। शनिवार को यहां मीडिया को जानकारी देते हुए समिति के सदस्यों ने घोषणा की कि विशाखापत्तनम स्टील प्लांट (वीएसपी) के 250 कर्मचारी भूख हड़ताल शिविर के 250वें दिन 19 अक्टूबर से 25 घंटे की लंबी भूख हड़ताल पर जाएंगे।

समिति के अध्यक्ष सी नरसिम्हा राव ने कहा कि वीएसपी के निजीकरण पर केंद्र सरकार के फैसले का विरोध जारी रहेगा। वीएसपी से जुड़े संघ के अध्यक्ष जे अयोध्या राम ने कहा कि उक्कू आंदोलन में भाजपा को छोड़कर राज्य के सभी राजनीतिक दल हिस्सा ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि तेलुगु लोग वीएसपी के निजीकरण की अनुमति नहीं देंगे। समिति के सदस्यों ने वीएसपी के 100 प्रतिशत रणनीतिक विनिवेश के लिए कानूनी सलाहकारों और लेनदेन सलाहकारों की नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी होने पर आपत्ति जताई।

समिति के सदस्य मंत्री राजशेखर ने कहा कि राज्य विधानसभा और जीवीएमसी परिषद ने भी वीएसपी के शत-प्रतिशत रणनीतिक विनिवेश के निर्णय का विरोध करते हुए एक प्रस्ताव पारित कर केंद्र को भेजा था। सम्मेलन में विशाखा उक्कू परीक्षा पोराटा समिति के सदस्य डी आदिनारायण, गंधम वेंकट राव, वाई मस्तानप्पा और वरसाला श्रीनिवास ने भाग लिया।

भाजपा प्रभारी दुष्यंत गौतम ने की जेपी नड्डा से मुलाकात, इस मुद्दे पर हुई चर्चा

इंडोनेशिया के बाली में भूकंप के झटकों से डोली धरती, 3 की मौत

बिडेन एडमिन ने सुप्रीम कोर्ट से टेक्सास गर्भपात कानून को रोकने के लिए कहा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -