सर्वदलीय बैठक से AAP का वॉकआउट, कहा- 'किसी को बोलने नहीं देते'

नई दिल्ली: संसद के शीतकालीन सत्र को लेकर संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने आज सर्वदलीय बैठक बुलाई है। आप सभी को बता दें कि इस बैठक में PM नरेंद्र मोदी के साथ विपक्षी दलों के फ्लोर लीडर्स भी शामिल हुए हैं। हालाँकि अब इस बैठक से आम आदमी पार्टी ने वॉकआउट कर दिया है। दूसरी तरफ टीएमसी के सूत्रों का कहना है कि बैठक में तृणमूल के सुदीप बंदोपाध्याय और डेरेक ओ ब्रायन ने 10 मुद्दे उठाए हैं।
 जी दरअसल आम आदमी पार्टी ने सर्वदलीय बैठक से वॉकआउट कर दिया है।

वहीं ऐसा होने के बाद पार्टी के सांसद संजय सिंह का कहना है कि, 'सरकार किसी को बोलने नहीं देती और अपनी बात रखने नहीं देती। संसद के इसी सत्र में मैंने एमएसपी गारंटी कानून बनाने की मांग की। किसान कह रहे हैं कि विद्युत संशोधन विधेयक नहीं आना चाहिए लेकिन सरकार की ओर से इसे लिस्ट किया गया है।' इसके अलावा संजय सिंह ने यह भी कहा कि, 'मैंने पंजाब में बीएसएफ का दायरा बढ़ाने का मामला उठाया। सरकार जिन्ना जिन्ना कर रही है जबकि किसान गन्ना गन्ना कर रहे हैं और आप मानने को तैयार नहीं है। ना संसद में बोलने दिया जाता है और ना ही ऑल पार्टी मीटिंग में।'

TMC ने किन मुद्दों को उठाया-

बेरोजगारी
पेट्रोल-डीजल और जरूरी चीजें के दाम
MSP पर कानून
संघीय ढांचे को कमजोर करने की कोशिश
प्रोफिटेबल सरकारी कंपनियों में विनिवेश पर रोक
बीएसएफ का ज्यरिसडिक्शन
पेगासस
कोविड के हालात
महिला आरक्षण बिल की मांग
बिलों पर सही रूप में चर्चा

आप सभी को हम यह भी बता दें कि विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी 29 नवंबर को विपक्षी दलों का बैठक बुलाई है जिसमें कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल होने वाले हैं। वहीं आज की सर्वदलीय बैठक भी काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि इसमें विपक्ष महंगाई, किसानों को मुआवजा और MSP के मुद्दे पर सरकार से चर्चा की मांग करेगा तो वहीं मोदी सरकार सभी राजनीतिक दलों को संसद में पेश किए जाने वाले सभी बिल के बारे में जानकारी देगी।

सरकार का बड़ा फैसला, बुजुर्गों, विधवाओं, दिव्यांगों सहित अब इन्हें भी मिलेगी सामाजिक सुरक्षा पेंशन

पंजाब के बाद अब इस राज्य की महिलाओं को बड़ी सौगात देंगे केजरीवाल

बड़ी खबर! 10 साल पुरानी गाड़ियों को लेकर सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -