भारत ने छेड़ा कोरोना के खिलाफ युद्ध: मास्‍क बनाने वालों के वीडियोज़ शॉर्ट वीडियो ऐप VMate पर हुए वायरल

कोरोनावायरस के तेजी से प्रसार और भारत सहित दुनिया भर में इसके मामले खतरनाक स्तर तक पहुंचने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया और सभी लोगों को घर से काम करने और ‘जनता कर्फ्यू’ में शामिल होने की सलाह दी। इसमें एक सबसे महत्‍वपूर्ण बात यह रही कि प्रधानमंत्री ने आवश्‍यक सेवाएं प्रदान करने वाले लोगों जैसे कि डॉक्‍टर्स और पुलिसकर्मियों आदि के प्रति आभार व्‍यक्‍त करने पर जोर दिया। जहाँ पूरा राष्ट्र श्री मोदी के साथ ऐसे नायकों का सम्मान करने के लिए खड़ा है, वहीं हमें इस अवसर का उपयोग उन गुमनाम नायकों की प्रशंसा के लिए भी करना चाहिए जो परदे के पीछे रह कर हमारी मदद कर रहे हैं।

मास्‍क बनाने वाले कारीगर कोरोनोवायरस या कोविड-19 के डर को दूर करने में मानव जाति के उद्धारकर्ता के रूप में उभरे हैं। हाल ही में ‘मेड इन इंडिया’ मास्‍क बनाने वाले लोगों के कई वीडियोज़ VMate जैसे शॉर्ट वीडियो प्‍लेटफॉर्म्‍स पर वायरल हुए हैं। इस शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म के ट्रेंडिंग पेज पर आप कपड़े के कारखानों और यहां तक कि छोटे वर्कशॉप्‍स में थोक में मास्‍क की सिलाई करते हुए टेलर्स के वीडियोज़ देख सकते हैं। कुछ ऐसे वीडियो भी हैं जिसे बनाने वाले इस बात की जानकारी दे रहे हैं कि कैसे एक साधारण कपड़े या रूमाल का इस्तेमाल मास्क बनाने के लिए किया जा सकता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, भारत में मास्क और सैनेटाइज़र की बिक्री में लगभग 400% की वृद्धि हुई है, जिससे मांग और आपूर्ति के बीच असमानता पैदा हुई है। लेकिन इन सबके बीच अच्‍छी बात यह है कि मास्‍क बनाने वाले कई ऐसे छोटे निर्माता हैं, जो इस संकट को कम करने के लिए दिन-रात काम कर अतिरिक्त प्रयास कर रहे हैं।

मास्‍क बनाने वालों के अलावा, VMate पर आप यह भी देख सकते हैं कि कैसे लोग कोरोनोवायरस के बारे में जागरूकता फैला रहे हैं और हंसी-मजाक और आसानी से समझ में आने वाले वीडियोज़ को बनाकर इस खतरे से बचाव के तरीके सुझा रहे हैं। शॉर्ट वीडियो बनाने वाली प्रीति ने क्‍या करें और क्‍या नहीं करें बताने के लिए नुसरत फतेह अली खान के सदाबहार गीत 'मेरे रश्के क़मर' की पैरोडी का इस्‍तेमाल किया है। इस पैरोडी के बोल हैं - "सैनेटाइज़र लगाओ अब तुम हाथ में, मास्‍क पहनो हमेशा तुम मुंह नाम में... कोरोना है ज़हर, बन के छाया है कहर"। इसी तरह पानीपत की कोमल गुगनानी एक लोकप्रिय हैंडवॉश के विज्ञापन के जिंगल का उपयोग करके स्वच्छता का संदेश फैला रही हैं।  

प्लेटफॉर्म पर एक और ट्रेंडिंग वीडियो एक ऐसे बच्चे का है जो वायरस की भूमिका में है, और लगातार दो अन्य बच्चों को संक्रमित करने का प्रयास कर रहा है। लेकिन वे हाथ मिलाने के बजाय नमस्ते का सहारा लेते हैं, और खाना खाने से पहले साबुन से हाथ धोते हैं, जिससे वायरस की मौत हो जाती है। पाकिस्‍तान के म्‍यूजिक बैंड स्ट्रिंग्‍स के ‘दूर’ गीत का प्रतीकात्‍मक तौर पर उपयोग किया गया है।

वैश्विक महामारी ने सरकारी अधिकारियों और चिकित्सा पेशेवरों के हाथ समान रूप से बांध दिए है। ऐसी परिस्थिति में भलाई से जुड़ी किसी तरह की जानकारी को मनोरंजक तरीके से प्रस्‍तुत करना स्‍वागत योग्‍य है। ग्रामीण भारत के ‘टिकटॉक’ के रूप में चर्चित VMate सहित दुनिया भर के शॉर्ट वीडियो प्लेटफार्म्‍स, निश्चित रूप से एक राहत के तौर पर सामने आए है, जो बेहद मुश्किल समय में सांत्वना और सुकून प्रदान करते है।

दमदार बेस वाला जूक(Zoook) का नया पार्टी रॉकर स्पीकर बढ़ाएगा आपके घर की खूबसूरती

एंड्रॉयड गो यूजर्स के लिए गूगल ने लॉन्च किया Camera Go app

Coronavirus: इन एप्स की मदद से आ सकते है अपनों के करीब

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -