हाथरस केस: AMU के डॉक्टर हुए बहाल, दो दिन पहले किए गए थे बर्खास्त

नई दिल्ली: हाथरस सामूहिक दुष्कर्म की जांच के बीच FSL रिपोर्ट पर सवाल उठे थे. FSL रिपोर्ट को लेकर सवाल उठाए जाने के बाद अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने दो डॉक्टरों को बर्खास्त कर दिया था. अब दोनों डॉक्टरों की बर्खास्तगी खत्म कर वापस उन्हें बहाल कर दिया गया है. दोनों डॉक्टरों को पुनः लीव वैकेंसी पर बहाल किया गया है.

बताया जाता है कि डॉक्टर अजीम और डॉक्टर ओबैद को AMU मेडिकल कॉलेज से मंगलवार को बर्खास्त दिया गया था. AMU मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने दोनों को यह कहते हुए नौकरी से निकाल दिया था कि दोनों को लीव वैकेंसी पर रखा गया था. कॉलेज प्रशासन ने यह भी कहा था कि दोनों डॉक्टरों का टर्म पूरा हो चुका है. इस निर्णय के लिए कॉलेज प्रशासन की जमकर आलोचना हो रही थी.

फैसले की आलोचना होते देख AMU मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने अपना फैसला पलट दिया है. कॉलेज प्रशासन ने लीव वैकेंसी पर दोनों डॉक्टरों को पुनः बहाल कर दिया है. आपको बता दें कि डॉक्टर अजीम और डॉक्टर ओबैद ने FSL रिपोर्ट को लेकर सवाल खड़े किए थे. FSL रिपोर्ट में पीड़िता के साथ दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई थी. एएमयू के वीसी प्रोफेसर तारिक मंसूर ने तत्काल प्रभाव से बर्खास्त करने के आदेश दिए थे.

राजस्थान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट सट्टेबाजी रैकेट ने किया जय माता दी, जय गोविंद देव जी के मंत्रोच्चार का इस्तेमाल

प्याज़ की कीमतों में लगी आग, आज शाम 4 बजे प्रेस वार्ता करेगी सरकार

महामारी के कारण डिटर्जेंट की बिक्री में आई गिरावट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -