शराब ने बचाई युवक की जान

शराब ने बचाई युवक की जान

आजकल के डॉक्टर्स की माने तो शराब जानलेवा और हानिकारक है लेकिन मिस्टर दिलीप कुमार को खुद डॉक्टर्स ने शराब पिलाने का निर्णय लिया क्योंकि मरते हुये दिलीप की जान बचाने के लिए यह जरूरी था। असल मे दिलीप मोतिनगर की एक दवाई कंपनी मे काम करता है गलती से उसने मेथनोल खा ली, जिसकी वजह से उसका रक्तचाप बढ़ने लगा, आँखों की रोशनी कम होने लगी और किडनी भी खराब होने लगी थी दिलीप की हालत बहुत खराब होने लगी।

जल्दी जल्दी मे दिलीप को दिल्ली के "सर गंगा राम अस्पताल" मे भर्ती कराया गया डॉक्टर्स उन्हे देखते ही समझ गए की जल्द ही इलाज करना होगा नहीं तो पेसेंट की जान बचाना मुश्किल है। डॉक्टर्स ने दिलीप को एक रम का पेग बना कर पिलाया । जिससे उसे थोड़ी राहत मिली और धीरे धीरे उसकी हालत मे सुधार आ रहा है। वहाँ के डॉक्टर अतुल गोगिआ ने बताया कि Methanol के ज़हर को कम करने के लिए उन्होंने दिलिप को Rum पिलाई जिससे उसे बचा पाया गया. ये वाक्या सच में अनूठा है लेकिन इसका मतलब ये नहीं की शराब पीना अच्छा होता है. ये एक ज़हर ही है, जिसे ज़हर उतारने के काम लाया जाता है।