कोरोना वैक्सीन को बताया था भाजपा की वैक्सीन..., अब अखिलेश यादव ने उस बयान पर दी सफाई

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र के पांचवें दिन समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर जमकर हमला बोला है। अखिलेश ने उनपर वादा खिलाफी का भी आरोप लगाया और अपने कुछ पुराने बयानों पर सफाई भी पेश की। चुनाव के दौरान अखिलेश यादव ने कोरोना वैक्सीन को भाजपा का टीका करार दिया था। अब सीएम योगी ने जब विधानसभा के दौरान उन पर तंज कसा तो अखिलेश ने भी इस पर सफाई पेश कर दी।

अखिलेश ने कहा कि कोरोना वैक्सीन पर क्योंकि पीएम नरेंद्र मोदी की फोटो लगी हुई थी, इसलिए उसे भाजपा की वैक्सीन बताया था। वहीं कोरोना काल में यूपी सरकार की उदासीनता पर कटाक्ष करते हुए अखिलेश ने बताया कि एक गर्भवती मां जो नेपाल से चली थी, वो भारत भी नहीं पहुंच पाई थी। उस वक़्त जब उसका बच्चा जन्मा, तो उसका नाम लॉकडाउन रखा गया। समाजवादी पार्टी की तरफ से उस मां की वक़्त रहते सहायता की गई थी।

इस सब के अलावा अखिलेश ने योगी सरकार पर वादा खिलाफी का भी आरोप लगाया। उनकी नजरों में इस सरकार ने केवल दावे किए हैं, मगर धरातल पर कुछ नहीं हुआ। गन्ना भुगतान का मुद्दा उठाते हुए सपा प्रमुख ने कहा कि चीनी मिलों का बकाया बाकी है फिर भी दावा किया जा रहा है को भुगतान किया गया। इससे पहले भी विधानसभा में संबोधन के दौरान अखिलेश ने यूपी की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किए थे। उन्होंने कहा था कि सरकार को इस पर कार्य करना चाहिए।

भैंस पर बैठकर लालू यादव से मिलने पहुंचे RJD कार्यकर्ता, CBI पर लगाए आरोप

'BMC चुनाव में होगी भाजपा की जीत...', कृपाशंकर सिंह ने किया दावा

किसानों के बैंक खातों में जल्द आएगा पैसा, इस दिन ट्रांसफर करेंगे पीएम मोदी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -