भाजपा में शामिल हुए पूर्व IPS असीम अरुण तो बोले अखिलेश यादव, 'वर्दी में कैसे-कैसे लोग छुपे थे'

कानपुर: कानपुर के पुलिस कमिश्नर रहे असीम अरुण के बीजेपी में सम्मिलित होने के पश्चात् अखिलेश यादव का बड़ा बयान सामने आया है। अखिलेश ने बोला है कि वर्दी में कैसे-कैसे लोग छुपे हुए थे? अखिलेश ने कहा कि क्या पंचायत का चुनाव आप भूल गए? मैंने तब भी बोला था कि जिला कप्तान और अफसर मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं। बता दें कि रविवार को बीजेपी में सम्मिलित होने के पश्चात् असीम अरुण ने बताया था कि पिछली सरकारों में माफिया को छोड़ने के लिए कॉल आते थे। 

वही असीम अरुण ने बताया कि मैं पार्टी के विचारों से जुड़कर आ रहा हूं। योगी राज में एक भी गुंडे के लिए मेरे पास बीजेपी दफ्तर से कॉल नहीं आया। मै खुश हूं, संतुष्ट हूं, लोकसेवा का अवसर प्राप्त हुआ है। यह एक ईश्वरीय संरचना है कि एक पुलिस वाले के बारे में एक शीर्ष नेतृत्व कल्पना करे। अरुण ने बताया कि सियासत में आने का फैसला सरल नहीं था। इस बारे में घरवालों से चर्चा की कि एक ओर नौकरी है तो दूसरी ओर लोक सेवा करने का अवसर है। मेरी कोशिश रहेगी कि जो अवसर मुझे प्राप्त हुआ है, मैं उसके अनुसार काम करुं। 

साथ ही उन्होंने कहा कि कभी किसी को छोड़ने, ढिलाई देने के लिए बीजेपी दफ्तर या किसी नेता, मंत्री का कॉल नहीं आया। मैं एटीएस प्रमुख था, तब मैंने बहुत दोषियों को अरेस्ट किया। मैं गांव से जुड़ा हूं तथा मेरा परिवार निरंतर अपने गांव में सामाजिक कार्य करता है। उन्होंने कहा कि वंचित, दलित सम्मान के लिए अभी काफी सारा काम शेष है। यदि मेरा योगदान उसमें होगा तो मैं स्वयं को सौभाग्यशाली समझूंगा। 

यूपी चुनाव में पीएम मोदी ने खुद संभाला मोर्चा, टिकट बंटवारे पर बैठक में हुए शामिल

यूपी चुनाव: क्या अयोध्या में 'मोदी की काशी' जैसा करिश्मा कर पाएंगे योगी आदित्यनाथ ?

फर्म में निवेशकों को गुमराह करने के आरोप में इस कंपनी के संस्थापक को 26 सितंबर को होगी जेल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -