हिंदू महासभा की दो टूक, मध्यथता में केवल राम मंदिर पर ही हो चर्चा वरना...

नई दिल्ली: अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने राम मंदिर मामले में बड़ा बयान देते हुए कहा है कि उच्चतम न्यायालय द्वारा श्री श्री रविशंकर को श्रीराम जन्मभूमि मुकदमे में मध्यस्थ बनाने के फैसले का वे स्वागत एवं समर्थन करते हैं. किन्तु बाबरी मस्जिद के पक्ष में बात नहीं होगी.

पीएम मोदी की आतंकियों को खुली चेतावनी, अब कोई दुस्साहस सहन नहीं करेगा भारत

उन्होंने कहा है कि पहले भी श्री श्री रविशंकर द्वारा श्रीराम जन्मभूमि मामले को बातचीत से सुलझाने की कोशिश की गई थी. जिसमें अखिल भारत हिन्दू महासभा सहित सभी पक्षकार शामिल हुए थे. उन्होंने कहा है कि हमें उम्मीद है कि श्री श्री रविशंकर मामले को वार्तालाप से सुलझा लेंगे तथा श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर बनने का रास्ता जल्द ही साफ़ होगा. भगवान श्रीराम 125 करोड़ हिंदुओं के मर्यादा पुरुषोत्तम हैं उनके जन्मस्थल पर मन्दिर का निर्माण नहीं होना हिंदुस्तान पर सबसे बड़ा कलंक है. 

शरद पवार ने कार्यकर्ताओं को दी सलाह, वोटिंग वाले दिन EVM पर रखें नज़र

मुन्ना कुमार शर्मा ने कहा है कि मंदिर के अलावा किसी अन्य विषय पर कोई चर्चा नहीं होगी. मध्यस्थों को मात्र राम मंदिर के निर्माण पर ही समझौता करने की चर्चा करनी चाहिए. यदि मध्यस्थों द्वारा बाबरी मस्जिद पर चर्चा की जाएगी, तो हिन्दू महासभा मध्यस्थता का बहिष्कार कर देगी. शर्मा ने कहा है कि बाबर एक लुटेरा और आक्रमणकारी था. उसने लाखों हिंदुओं का कत्ल किया था तथा हजारों हिन्दू मन्दिरों को ध्वस्त किया था. इसलिए ऐसे हिन्दू विरोधी बाबर के नाम पर कोई भी मस्जिद हिंदुस्तान में नहीं बनने दी जाएगी. 

खबरें और भी:-

'आप' का बड़ा बयान, कहा चुनाव के साथ ही ख़त्म हो जाएगी भाजपा की तानाशाही सरकार

लोकसभा चुनाव: अखिलेश यादव का दावा, कहा- अब बदलाव चाहती है जनता

आम चुनाव की तारीखों के ऐलान से पहले मायावती ने पीएम को घेरा, कही ये बड़ी बात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -