ईमानदारी और मेहनत से प्रभावशाली भारतीय बने रक्षा सचिव डॉ.अजय कुमार

May 27 2020 07:24 PM
ईमानदारी और मेहनत से प्रभावशाली भारतीय बने रक्षा सचिव डॉ.अजय कुमार

रक्षा सचिव डॉ.अजय कुमार का नाम फेम इंडिया मैगजीन ने जारी की '50 प्रभावशाली भारतीय 2020' की सूची में 31वें स्थान पर है. रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में 'मेक इन इंडिया' को बढ़ावा देने के लिये डिफेंस एक्सपो जैसे सफल आयोजन करवाने वाले रक्षा सचिव अजय कुमार एक बेहतरीन कार्य करने वाले सचिव के रूप में जाने जाते हैं. आप सभी को बता दें कि अजय कुमार ने संजय मित्रा की जगह ली हैं. जी दरअसल संजय मित्रा ने जून, 2019 में अपना कार्यकाल पूरा किया था. आप जानते ही होंगे कि कैबिनेट सचिव, गृह सचिव, विदेश मामले सचिव तथा रक्षा सचिव कार्यकाल दो वर्ष का होता है. ऐसे में 23 अगस्त 2019 में ही अजय कुमार रक्षा सचिव बने हैं. रक्षा सचिव बनने के बाद अजय कुमार ने यह आशा जताई कि स्थानीय स्तर पर उत्पादन को बढ़ावा देकर साल 2025 तक भारत दुनिया के 5 बड़े रक्षा हार्डवेयर उत्पादकों में शामिल हो जाएगा.

अजय कुमार साल 1985 बैच के केरल कैडर के आईएएस अधिकारी हैं. वहीं उनका जन्म 2 अक्टूबर, 1962 को उत्तर प्रदेश में हुआ था और उन्होंने IIT कानपूर से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है. जानकारी के लिए बता दें कि वह भारत के 39वें रक्षा उत्पादन सचिव हैं. अजय कुमार ने भारत सरकार और केरल सरकार, जैसे प्रमुख सचिव (सूचना प्रौद्योगिकी), केरल राज्य इलेक्ट्रॉनिक्स विकास निगम के प्रबंध निदेशक, सचिव (उद्योग), केरल राज्य सह-प्रबंध निदेशक जैसे विभिन्न पदों पर काम किया है. इसी के साथ अजय कुमार ने अपनी सेवा के तीन दशक केरल राज्य सरकार को भी दिए, जहाँ उन्होंने तीन अलग-अलग विभागों का नेतृत्व किया.

वहीं अब वह केंद्रीय रक्षा सचिव के रूप में नियुक्त हो चुके हैं. अजय कुमार ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी कानपुर से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी की है. इसी के साथ उन्होंने मिनेसोटा विश्वविद्यालय से विकास अर्थशास्त्र में मास्टर ऑफ साइंस, और कार्लसन से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी की डिग्री प्राप्त की है.

भारत के आत्म निर्भर बनने की बात कुछ समय पहले ही पीएम मोदी ने कही थी वहीँ यह बात अजय कुमार काफी पहले कह चुके हैं. उन्होंने कहा था, 'जहां हमारा देश पूरी तरह आयात-निर्भर था, आज आत्मनिर्भर हो चुका है.' इसकी वजह बताते हुए उन्होंने कहा था, "2014 में हमारा मोबाइल फोन उत्पादन कारोबार 19,000 करोड़ रुपए था जो आज बढ़कर 90,000 करोड़ रुपए हो गया है.'' अपने कार्यों को पूरी मेहनत और लग्न से करने वाले अजय कुमार आज प्रभावशाली भारतीय के रूप में जाने जाते हैं.

फेम इंडिया मैगजीन ने जारी की '50 प्रभावशाली भारतीय 2020' की सूची, पहले स्थान पर है PM मोदी

उत्तराखंड मंत्री ने दिए डिप्टी डायरेक्टर को पद से हटाने के निर्देश

रेंजर ने पकड़े तस्कर, कार्यालय से छुड़ा ले गया वन दरोगा