मंत्री आजम खान ने की मुसलमानों की सुरक्षा की मांग

लखनऊ : उत्तरप्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहम्मद आजम खान ने हाल ही में कहा है कि बकरीद पर मुसलमानों को सुरक्षा प्रदान करना चाहिए। कई बार मुसलमानों को अपमानजनक बातें सुनना पड़ती हैं। यही नहीं कानून सदैव खामोश और तामशबीन बनकर देखता रहता है। यही नहीं मो. आजम खान ने इस मामले में यह कहा कि बकरीद का पर्व सम्मान के साथ ही खुदा के प्रति समर्पण का पर्व है। मगर इस पर्व के नाम पर सांप्रदायिक शक्ति राजनीतिक लाभ प्राप्त करना चाहती है। प्रयास किए जा रहे हैं कि सांप्रदायिक उन्माद फैलाया जा रहा है। 

मुसलमान को कुर्बानी करने से तक रोका जाता है और प्रशासन मौन होकर देखता रहता है। इस तरह के कमजोर लोगों को संरक्षण प्रदान करना बहुत जरूरी है। मामले में कहा गया कि डीजीपी वही करें जिसे वे अपना सकें। उन्होंने कहा किराज्य में डीजे के उपयोग को नियंत्रित किया जाए और एक तय समयावधि के बाद इस पर बैन लगे। उल्लेखनीय है कि मंत्री आजम खान मुस्लिमों के समर्थक माने जाते हैं और वे अल्पसंख्यकों का पक्ष सामने रखते रहते हैं। कई बार आजम के बयानों से विवाद फैल जाता है। दूसरी ओर कट्टरवादी और हिंदूवादी ताकतें इस तरह के बयान के बाद अपना बड़बोलापन दिखाती हैं। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -