हर माह 250 करोड़ रुपए का घाटा सहता एयर इण्डिया

नई दिल्ली : आपको यह जानकर हैरानी होगी, कि सरकारी एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया को हर महीने 200-250 करोड़ रुपए का घाटा हो रहा है. इस कारण कंपनी अपने कई विमानों का रख-रखाव भी नहीं कर पा रही है और लीज पर लिए गए विमान कई राज्यों के एयर पोर्ट पर मरम्मत का इंतजार कर रहे हैं.यह जानकारी नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने संसद की लोक लेखा समिति को दी है.

विमानन मंत्रालय ने संसद की लोक लेखा समिति को जो जानकारी दी उसके अनुसार एयर इंडिया हर महीने 200-250 करोड़ रुपये के नकद घाटे का सामना कर रहा है.इसका एक कारण एयर इंडिया को सरकार की ओर से काफी कम पैसा दिया जाना है .कई पुराने मामलों में सी.बी.आई. की जाँच चलने से 2011 से सरकार ने एयर इंडिया का नकद प्रवाह कम कर दिया है इस कारण वाहनों की देखरेख नहीं हो पाने से कई वाहन खड़े हुए हैं.

आपको बता दें कि एयर इंडिया के हालात इतने खराब हो चुके हैं, कि वह विमानों के स्पेयर पार्ट्स भी नहीं खरीद पा रही है. 2015 में कंपनी का विमानों के रखरखाव का खर्चा 2500 करोड़ रुपए से ऊपर हो गया था. फिलहाल कंपनी को भुगतान के लिए बाहर से 300 करोड़ डॉलर की वित्तीय मदद की जरूरत है.लोक लेखा समिति ने एयर इंडिया की इसलिए जांच की है, क्योंकि सरकार इसमें अपनी 76 फीसदी हिस्सेदारी को बेचने जा रही है.एयर इंडिया पर फिलहाल 48876 करोड़ रुपए का कर्ज है, हालाँकि इसके संचालन लाभ में सुधार हुआ है.

यह भी देखें

एयर इंडिया फ्लाइट की खिड़की टूटी, बड़ा हादसा टला

क्यों नहीं हो पा रही एयर इंडिया की डील ?

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -