बिहार के बाद UP की ओर कूच कर रही AIMIM

लखनऊ : बिहार विधानसभा चुनाव के बाद उत्तर प्रदेश में चुनावी माहौल गर्मा गया है। चुनाव को लेकर राजनीति तेज़ हो गई है। बिहार चुनाव में सांसद असदुद्दीन औवेसी की पार्टी चर्चा का विषय बनी। असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एमआईएम यहां भी हाथ आजमा रही है। बिहार में यह विशेष असर नहीं दिखा पाई। ओवैसी की पार्टी पश्चिमी उत्तर प्रदेश के उपचुनाव में शामिल होने जा रही है। माना जा रहा है कि यहां औवेसी की पार्टी मुस्लिम वोट बैंक हासिल कर सकती है लेकिन इस क्षेत्र में पहले से ही सपा का प्रभाव है और सपा में कैबिनेट मंत्री आजम खान बहुत महत्वपूर्ण अहमियत रखते हैं।

ओवैसी की पार्टी पश्चिमी उत्तर प्रदेश के उपचुनाव में शिरकत करने पहुंची। यह पार्टी बिहार में विशेष असर नहीं छोड़ पाई है। उल्लेखनीय है कि उत्तरप्रदेश में वर्ष 2017 में विधानसभा चुनाव के समीकरणों की ओर इशारा किया गया। ओवैसी द्वारा भारतीय जनता पार्टी और समाजवादी पार्टी दोनों को आड़े हाथों लिया गया। दोनों ही दलों को एमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने हाड़े हाथों लिया।

उन्होंने कहा कि दोनों ही पार्टियां एक ही सिक्के के दो पहलू की ही तरह हैं। दूसरी ओर बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा कि उत्तरप्रदेश में उनकी पार्टी अकेले 2017 का विधानसभा चुनाव लड़ेगी। मायावती द्वारा कांग्रेस या भारतीय जनता पार्टी सहित किसी संगठन से गठबंधन करने की संभावना को नकार दिया गया। लगभग सभी पार्टियां स्वयं ही अपने दम पर चुनाव लड़ने की बात कर रही हैं। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -