तमिलनाडु विधानसभा में जहरीली शराब का मुद्दा उठाने पर AIADMK के विधायक निलंबित, 58 लोगों की हो चुकी है मौत

तमिलनाडु विधानसभा में जहरीली शराब का मुद्दा उठाने पर AIADMK के विधायक निलंबित, 58 लोगों की हो चुकी है मौत
Share:

चेन्नई: तमिलनाडु विधानसभा में आज मंगलवार को विपक्षी दल AIADMK के विधायकों को एक दिन के लिए निलंबित कर दिया गया। उन्हें सदन में प्रश्नकाल के दौरान कल्लाकुरिची शराब त्रासदी का मुद्दा उठाने की कोशिश करने पर उन्हें निलंबित कर दिया गया। मुख्यमंत्री और DMK प्रमुख एम के स्टालिन ने कहा कि उन्होंने घटना के बारे में विस्तार से जानकारी दी, जिसमें उन्होंने इस त्रासदी के संबंध में अपनी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की रूपरेखा बताई, जिसमें अब तक 58 लोगों की जान जा चुकी है। वहीं, लगभग 150 लोग अब भी अस्पतालों में भर्ती हैं

स्टालिन ने कहा कि अध्यक्ष ने AIADMK विधायकों से स्पष्ट तौर पर कहा था कि वे प्रश्नकाल के बाद कल्लाकुरिची शराब त्रासदी का मुद्दा उठाएंगे। स्टालिन ने कहा कि, "उन्हें चर्चा के लिए रुकना चाहिए था। वे जानबूझकर अराजकता पैदा करना चाहते थे। अध्यक्ष को उन्हें विधानसभा से बाहर निकालने के लिए मजबूर होना पड़ा। मैंने अध्यक्ष से अनुरोध किया कि वे कल्लकुरिची पर चर्चा के लिए विपक्ष को उपस्थित रहने की अनुमति दें। अध्यक्ष ने मेरा अनुरोध स्वीकार कर लिया, लेकिन वे अभी भी व्यवधान पैदा कर रहे हैं।"

मुख्यमंत्री ने कहा कि तमिलनाडु में लोकसभा चुनावों में इंडिया ब्लॉक की जीत ने एआईएडीएमके को झकझोर कर रख दिया है। ब्लॉक ने राज्य की सभी 39 संसदीय सीटें जीती हैं। उन्होंने कहा, "लोकसभा चुनावों में हमारी जीत ने AIADMK को बुरी तरह प्रभावित किया है। वे लोगों को हमारी जीत के बारे में भुलाने के लिए इन गतिविधियों (सदन की कार्यवाही में बाधा डालने) में लिप्त हैं।" स्टालिन ने कहा कि अवैध शराब त्रासदी की जांच सीबी-सीआईडी ​​को दी गई है और एक सेवानिवृत्त न्यायाधीश भी मामले की जांच करेंगे।

उन्होंने कहा, "गृह सचिव और डीजीपी को भी रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है। जहरीली शराब त्रासदी के सिलसिले में अब तक करीब 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। अन्य आरोपियों को पकड़ने के प्रयास जारी हैं।" घटना की सीबीआई जांच की मांग को लेकर AIADMK पर कटाक्ष करते हुए स्टालिन ने कहा, "मैं AIADMK को याद दिलाना चाहता हूं कि मौजूदा विपक्षी नेता एडप्पादी के पलानीस्वामी ने मुख्यमंत्री रहते हुए अदालत के आदेश पर अपने खिलाफ सीबीआई जांच का सामना किया था। उस समय उन्होंने यह कहते हुए इसे रोक दिया था कि उन्हें सीबीआई पर भरोसा नहीं है। अब वही लोग इस मामले में सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं।" सोमवार को AIADMK के महासचिव एडप्पादी के पलानीस्वामी समेत पार्टी के विधायकों ने कल्लाकुरिची शराब त्रासदी के विरोध में काली शर्ट पहनी। निलंबित होने से पहले आज भी वे विधानसभा में काली शर्ट पहनकर आए।

ओम बिरला या के सुरेश ! कौन होगा लोकसभा स्पीकर ? दोनों ने दाखिल किया नामांकन, मतदान कल

कर्नाटक में 2 रुपए बढ़े नंदिनी दूध के दाम ! पिछले साल भी हुई थी 3 रुपए की वृद्धि

सलवार-ब्लाउज, लिपस्टिक और माथे पर बिंदी लगाकर एयरपोर्ट ऑफिसर ने की खुदखुशी, जाँच में जुटी पुलिस

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -