Lowerअदालत के फैसले के विरुद्ध CBI की अपील को हाईकोर्ट ने किया खारिज

गुवाहाटी: गुवाहाटी उच्च न्यायालय ने केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा दायर आपराधिक अपील संख्या 145/2021 को खारिज कर दिया है. केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने भाग्य कलिता और उसके ड्राइवर फातिकुर अली (22 वर्ष) पर 1995 में एक गृहिणी और उसकी नाबालिग बेटी कार्बी दास की हत्या का आरोप लगाया था।

2017 में ट्रायल कोर्ट ने भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत व्यवसायी भाग्य कलिता और उसके ड्राइवर को हत्या के आरोप से बरी कर दिया। निचली अदालत के इस फैसले के खिलाफ केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गुवाहाटी उच्च न्यायालय में एक अपील दायर की, जिसे उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया। कार्बी और उनकी बेटी दोनों की वर्ष 1995 में गुवाहाटी के अंबारी में उनके आवास पर हत्या कर दी गई थी।

उल्लेखनीय है कि अभी तीन दिन पहले राज्य में एक और हत्या हुई थी। रमन कथार की धारदार हथियार और लोहे की रॉड से हत्या करने के आरोप में एक शख्स प्रफुल्ल बोरा को सोनापुर पुलिस ने गिरफ्तार किया है. आरोपी प्रफुल्ल बोरा ने शव को अपने घर के पीछे जंगल के पास छिपा दिया था। पहले तो आरोपी ने अपराध करने से इनकार किया, लेकिन बाद में गहन पूछताछ के बाद आरोपी ने कबूल किया और पुलिस टीम को शव के पास ले गया।

आज से PM मोदी को मिले उपहारों की ई-नीलामी करेगा संस्कृति मंत्रालय, आप भी ले सकते हैं हिस्सा

वृद्धावस्था पेंशन चेक करने गए बुजुर्ग के खाते में निकले 52 करोड़ रुपए

पीएम मोदी के जन्मदिन पर बीजेपी का नया लक्ष्य, अधिक से अधिक मात्रा में करना है वैक्सीनेशन

Most Popular

- Sponsored Advert -