अफवाह किसी ने फैलाई थी

फवाह किसी ने फैलाई थी तेरे शहर में होने की, 
मैं हर एक दर पर मुकद्दर आज़माता रहा..

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -