विरोध के बाद 39 भारतीयों के परिजनों को दस दस लाख का मुआवजा

इराक में मारे गए 39 भारतीयों के परिजनों को सरकार अब दस दस लाख रुपए देने का एलान किया है. पहले सरकर ने पांच पांच लाख देने का एलान किया था. इससे पहले बिहार के सिवान पहुंचाए गए सुनील कुमार कुशवाहा और अदालत सिंह के परिवार वालों ने उनके अवशेष लेने से इंकार कर दिया था.  इन दोनों मृतकों के परिजनों का कहना है कि बिहार सरकार ने मृतकों के परिवार वालों को पांच पाच लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है, जो नाकाफी है.

सुनील कुशवाहा की पत्नी पूनम देवी ने कहा कि उनके दो छोटे-छोटे बच्चे हैं, जिनकी उम्र क्रमशः छह साल और आठ साल है. पति के मौत के बाद उन्हें परिवार चलाने में काफी दिक्कत हो रही है. इसी वजह से उन्होंने मांग की कि जब तक उन्हें नौकरी नहीं मिल जाती है, तब तक वह अपने पति के अवशेष को स्वीकार नहीं करेंगी.

वहीं, दूसरी तरफ अदालत सिंह के परिजनों ने भी उनके अवशेष लेने से इंकार कर दिया और मांग की कि जिस तरीके से पंजाब सरकार ने वहां के मृतकों के परिवार वालों को मुआवजे के अलावा सरकारी नौकरी का एलान किया है, उसी तरीके से बिहार सरकार को अभी मृतकों के परिवार वालों को नौकरी देनी चाहिए. वहीं, एक शव के अवशेष के डीएनए मैच किए जा रहे है. डीएनए मैच होने के बाद ही राजू यादव के अवशेष को वापस लाया जाएगा. इराक में मारे गए भारतीयों के परिजनों ने शवों के ताबूत न खोलने के आदेश के बाद आशंका उठाई कि वो इस बात पर कैसे यकीन करें कि ये शव उनके अपने लोगों के ही हैं?  .

इराक से लाये गए शव लेने से परिजनों का इंकार

फिर से माँ बनना चाहती हैं ये सिंगर

39 शव: सरकार के इस फरमान से परिजनों को फिर हुआ शक

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -