सिवनी के बाद अब गुना में मिले गोवंश के 32 कटे सिर, गौसेवकों ने जमकर मचाया बवाल

सिवनी के बाद अब गुना में मिले गोवंश के 32 कटे सिर, गौसेवकों ने जमकर मचाया बवाल
Share:

गुना: मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में गोवंश मामले के पश्चात् गुना में मवेशियों के अवशेष प्राप्त हुए हैं। इस घटना को लेकर रविवार को गौ सेवकों द्वारा खूब हंगामा किया गया। गुना जिले के सकतपुर स्थित ट्रेचिंग ग्राउंड पर कुछ व्यक्तियों को मवेशियों के अवशेष नजर आए। गायों के 32 कटे हुए सिर एवं हड्डियां मिली हैं। खबर प्राप्त होने पर गौ सेवक मौके पर पहुंचे तथा वीडियो बनाकर कोतवाली थाना पुलिस को अवगत कराया।

कोतवाली थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची एवं गौ सेवकों पर कार्रवाई का आश्वासन दिया। गौ सेवक पुलिस की बात से संतुष्ट नहीं हुए। तत्पश्चात, गौ सेवकों ने रविवार शाम को हनुमान चौराहे पर चक्का जाम कर दिया तथा आरोपियों पर कार्रवाई करने की मांग की। गौ सेवकों ने कहा कि निरंतर गोवंश का वध किया जा रहा है। आरोपियों पर सख्त कार्रवाई नहीं की जा रही है। इस के चलते बड़े आंकड़े में गौ सेवक उपस्थित रहे।

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में गोवंश हत्या को लेकर बीते कई दिनों से कई मामले सामने आ चुके हैं। रतलाम जिले के जावरा में एक मंदिर में गाय का कटा हुआ सिर फेंकने के पश्चात् हंगामा मच गया था। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए अपराधियों के घर पर बुलडोजर चलाया था। वहीं दूसरी तरफ सिवनी जिले में गोवंश की हत्या का मामला सामने आने के पश्चात् हंगामा मच गया था। राज्य सरकार ने इस पर सख्त कार्रवाई के आदेश दिए थे। पुलिस ने 2 अपराधियों को गिरफ्तार कर उन पर रासुका लगाया है। अब गुना जिले में गोवंश की हत्या का मामला सामने आने के पश्चात् फिर से हंगामा मच गया है।

मौलवी ने भड़काया, 14 वर्षीय सुन्नी लड़के ने नजीर हुसैन को घोंप दिया चाक़ू, 4 दिनों में ईशनिंदा का आरोप लगाकर दूसरे मुसलमान की हत्या

'आप संविधान के प्रति प्रेम दिखा रहे..', आपातकाल की बरसी पर पीएम मोदी ने कांग्रेस को दिखाया आइना

जल मंत्री आतिशी मार्लेना का अनशन ख़त्म ! तबियत बिगड़ने के बाद ICU में हुईं भर्ती, Video

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -