ईरान से अफगानिस्तान तक पहुंचा हिजाब विरोधी आंदोलन. सड़कों पर उतरी मुस्लिम महिलाएं

तेहरान: ईरान में पुलिस द्वारा पीट-पीटकर कोमा में पहुंचा दी गई महिला महसा अमिनी (Mahsa Amini) की मौत पर पूरे ईरान में हिजाब विरोधी प्रदर्शन तेज हो रहे हैं। महिलाओं ने अपने प्रदर्शन के दम पर सत्ताधीशों की नींद उड़ा दी है। अब ईरान की महिलाओ के समर्थन में अफगानिस्तान की भी मुस्लिम महिलाओं ने रैली निकाली है। हालांकि, अफगानिस्तान में प्रदर्शन कर रही महिलाओं के सामने तालिबानी लड़ाकों ने रैली को तितर-बितर करने के लिए हवा में गोलियां चलाई।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, हिजाब के विरोध में ईरानी महिलाओं के समर्थन का आगे बढ़ाते हुए अफगानिस्तान के काबुल में 25 महिलाओं ने ईरानी दूतावास के समक्ष नारेबाजी की। महिला प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए तालिबान लड़ाकों ने हवा में गोलीबारी की और भीड़ को खदेड़ किया।  काबुल में महिला प्रदर्शनकारियों ने बैनर लिए हुए नारे लगाते हुए कहा कि, 'ईरान बढ़ गया है, अब हमारी बारी है!' और "काबुल से ईरान तक, तानाशाही को ना कहो!" इन नारों से बौखलाए तालिबान लड़ाकों ने तेजी से बैनरों को छीन लिया और प्रदर्शनकारियों के सामने उन्हें फाड़ डाला। इसके बाद हवा में गोलीबारी कर महिलाओं को खदेड़ दिया।

बता दें कि गत वर्ष अगस्त महीने में तालिबान द्वारा सत्ता पर कब्ज़ा करने के बाद से तालिबान को अफगानिस्तानियों के विद्रोह का सामना करना पड़ रहा है। सत्ता में आने के बाद से तालिबान ने सख्त शरिया कानून लागू करते हुए आम नागरिकों खासकर महिलाओं पर बेहद कड़े पाबंदियां लगा दी हैं।

जिस 'बिशप' को मिला शांति का नोबेल प्राइज, वह करता था छोटे-छोटे लड़कों का बलात्कार - रिपोर्ट

विश्व ह्रदय दिवस आज, जानिए इसे मानाने का उद्देश्य और इतिहास

लेस्टर हिंसा पर 'द गार्डियन' ने फैलाई फर्जी ख़बरें.., UK में दफ्तर के बाहर हुआ विरोध प्रदर्शन

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -