जेंडर चेंज कराकर छात्र ने माँगा गर्ल्स हॉस्टल

वैसे तो जेंडर चेंज कराने के कई मामले सुनने में आते रहते है. और ये करना कोई गैरकानूनी भी नहीं है. लेकिन कानपुर के एचबीटीआई इंजीनियरिंग कॉलेज की जेंडर चेंज की घटना इन दिनों खासा सुर्ख़ियो में हैं. दरअसल कॉलेज के एक छात्र ने अपना जेंडर चेज कराने के बाद गर्ल्स हॉस्टल की मांग रखी है जिस कारण पूरे कॉलेज प्रशासन में हड़कंप मच गया है. मेल जेंडर से एड्मिशन लेने वाले छात्र की इस बात को लेकर कॉलेज प्रशासन भी अब परेशान है की छात्र को गर्ल्स हॉस्टल में रखा जाये या फिर ब्वॉयज हॉस्टल में या फिर सबसे अलग.वही कॉलेज की छात्राएं इस छात्र को गर्ल्स हास्टल में रखने को भी तैयार है एचबीटीआई के इतिहास में पहली बार आया यह अनोखा मामला चारों तरफ चर्चा का विषय बना चूका है.

यह संस्थान वैसे तो उत्तर प्रदेश का प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग कॉलेज में शुमार है लेकिन आजकल यह कॉलेज अपने छात्र रवि ( बदला हुआ नाम) को लेकर काफी सुर्ख़ियो में है. कॉलेज में पढ़ने वाले हजारों छात्र- छात्राएं इस समय अपनी पढ़ाई को छोड़कर बस एक ही चर्चा में व्यस्त है की रवि को गर्ल्स हॉस्टल मिलेगा या ब्वॉयज हॉस्टल. दरअसल एमसीए सेकेंड इयर के छात्र रवि ने अपना जेंडर मेल से फीमेल करा कर कॉलेज प्रशासन से गर्ल्स हास्टल में रहने की मांग की है. रवि नाम का यह छात्र दिल्ली की हाई प्रोफाइल फैमिली से ताल्लुक रखता है.

उसका जेंडर चेंज ऑपरेशन भी दिल्ली में करवाया गया है रवि ने पिछले साल इंट्रेंस एक्जाम में पूरे प्रदेश में सातवां स्थान प्राप्त किया था. कॉलेज प्रशासन अब इस उलझन में पड़ गया है की अगर उसको गर्ल्स हास्टल में रखेंगे तो छात्राएं उसके साथ कैसे एडजेस्ट करेगी और यदि ब्वॉयज हॉस्टल में रखेंगे तो कही छात्र उसका मजाक न बनाएं. कॉलेज प्रशासन इसी मीटिंग में लगा है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -