आखिर क्यों भारत में कोरोना संक्रमण कम होने के बाद भी बढ़ रहा मौत का आंकड़ा, जानें

नई दिल्ली: देशभर में बीते कुछ दिनों में कोविड ने नए केसों में कमी देखने को मिल रही है, लेकिन मौत के आंकड़े तेजी से बढ़ें हैं। केंद्र सरकार ने बोला है कि टेस्टिंग बढ़ाने से लाभ हुआ है और 14 सप्ताह में ढाई गुना टेस्टिंग बढ़ा दी गई है। जिससे संक्रमण का पता चला और उन पर काबू पाने में सहायता मिली है, लेकिन चिंता की बात कुछ और है, क्योंकि मौतों का आंकड़ा कम नहीं हो रहा है।

जंहा इस बात का पता चला है कि पिछली लहर के मुकाबले इस बार नौजवानों की मौत की दर दोगुनी है। ये डेटा दिल्ली NCR में 7-8 हॉस्पिटल में की गई स्टडी के आधार पर निकला है और ये बहुत चिंताजनक है। कोरोना वायरस में हम नौजवानों को खोते जा रहे हैं।

10 मई को भारत में कोविड का संक्रमण 3 लाख 88 हजार 58 था, वो एक सप्ताह के उपरांत  17 मई को घटकर 3 लाख 19 हजार 437 पहुंच गया। 10 मई को  कोरोना वायरस से होने वाली मौतों की तादाद 3 हजार 948 थी, वो एक सप्ताह के उपरांत बढ़कर 4 हजार 100 तीन तक पहुंच गई। मौत का आंकड़ा 19 मई को 4500 से अधिक हो चुका है। तो आखिर कोविड संक्रमण का गिरता चार्ट और मौतों की बढ़ती लकीर से बनने वाला एक्स फैक्टर क्या कहता है?

देश में कोविड का कहर थोड़ा थमता हुआ दिखाई दे रहा है, क्योंकि अब इलाज के इंतजाम धीरे धीरे सुधर रहे हैं। बेड्स और ऑक्सीजन की किल्लत उतनी नहीं रही। जीवन रक्षक दवाओं के इंतजाम सुधारे गए हैं। लॉकडाउन और कर्फ्यू का लाभ देखने को मिल रहा है। लेकिन इन हालात में भी हॉस्पिटल में होने वाली मौतों का आंकड़ा कम नहीं हो रहा और भारत में अब भी औसतन रोजाना 4 हजार लोगों की जान जा रही है।

विशेषज्ञों का कहना है कि युवाओं में अभी वैक्सीन लगे हुए लोगों की तादाद बहुत कम है। दूसरी बात यह है की म्युटेंट वायरस युवाओं के लिए ज्यादा खतरनाक साबित हो रहा है और युवाओं का बड़ी तादाद में घर से बाहर निकलना भी उनके वायरस की चपेट में आने के पीछे एक बड़ी वजह माना जा रहा है। हालांकि आंकड़ों का आकलन करने वाले यह उम्मीद कर रहे हैं कि आने वाले हफ्तों में देश में हो रही मौतों की संख्या में भी कमी आएगी।

'दिल्ली में कोई जिन्दा नहीं रह सकता...', लिखने वाली जामिया की असिस्टेंट प्रोफेसर की कोरोना से मौत

पत्नी सहित कोरोना संक्रमित पाए गए पश्चिम बंगाल के पूर्व सीएम बुद्धदेव भट्टाचार्य

सीएम केजरीवाल की अपील पर बोले उड्डयन मंत्री, कहा- सिंगापुर के लिए पहले से ही रद्द हैं फ्लाइट्स

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -