आखिर क्यों मनाया जाता है विश्व थाइरोइड दिवस, जानिए क्या है इसके लक्षण

यदि कम आयु में ही हर समय थकान रहे, कम खाने के बावजूद तेजी से वजन बढ़ता चला जा रहा है, कम उम्र में ही बुढ़ापे के लक्षण दिखने लगें तो समझ लीजिए सेहत अच्छी नहीं रहती है। बाल गिरने लगना, स्किन ड्राई, हमेशा चिड़चिड़े रहना जैसे संकेत नज़र आ रहे  है तो आप साइलेंट किलर थायराइड के शिकार हो चुके है। ऐसे मरीजों को लाइफस्टाइल और खानपान का विशेष ध्यान रखना होता है। दरअसल, खराब दिनचर्या और गलत खानपान इसकी बड़ी वजह  है। 

लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से विश्व थायराइड दिवस हर साल 25 मई को सेलिब्रेट किया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य थायराइड के महत्व और रोग की रोकथाम व उपचार के बारे में जागरूक करना है। पुरुषों के मुकाबले महिलाएं थायराइड का अधिक शिकार हो जाती है। देश में हर 10वां व्यक्ति बीमारी से जूझ का सामना कर रही है। 35 वर्ष की आयु से थायराइड की जांच शुरू करा देनी चाहिए और प्रत्येक पांच साल बाद नियमित जांच करानी चाहिए। ताकि इस गंभीर बीमारी से बचा जा सके। 

थायरॉइड के लक्षण:- 
- वजन कम होना
- घबराहट
- थकान
- सांस फूलना
- कम नींद आना
- अधिक प्यास लगना

हाइपोथायराइडिज्म:-

- वजन बढ़ना
- थकान
- अवसाद
- मानसिक तनाव
- बालों का झड़ना
- त्वचा का रूखा और पतला होना

यह है थायराइड: सांस की नली के ऊपर थायराइड तितली के आकार का एक ग्लैंड बना हुआ होता है। थायराइड ग्लैंड थ्योरिकसिन नाम का हार्मोन बनाने का काम करती है। ये हार्मोन शरीर के मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है और शरीर में सेल्स को कंट्रोल करता है। यह 2 प्रकार के होते हैं। थायराइड हार्मोन में कमी से हाइपोथायरायडिज्म (अचानक वजन बढ़ना) होता है। थायराइड हार्मोन के बढ़ने से हाइपरथायरायडिज्म होता है। आहार में उचित आयोडीन स्तर बनाए रखने और कच्ची गोइट्रोजेनिक सब्जियों के उपयोग को सीमित करने से थायराइड रोगों से बचने में सहायता भी मिलती है। 

पाकिस्तान के नए विदेश मंत्री बिलावल 21 मई को चीन की यात्रा करेंगे

बाइडन की टोक्यो यात्रा के दौरान करीब 18,000 पुलिस अधिकारियों को तैनात किया जाएगा

पाकिस्तान के वित्त मंत्री बिलावल भुट्टो भुट्टो ने इमरान खान की रूस यात्रा का बचाव किया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -