आखिर क्यों पीएम मोदी ने टीका लगवाने के लिए 'कोवाक्सिन' ही चुनी ?

Mar 01 2021 12:29 PM
आखिर क्यों पीएम मोदी ने टीका लगवाने के लिए 'कोवाक्सिन' ही चुनी ?

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने सोमवार सुबह अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) जाकर कोरोना की वैक्सीन लगवाई। पीएम मोदी को स्वदेश निर्मित भारत बॉयोटेक एवं भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) की तरफ से तैयार कोरोना वैक्सीन कोवाक्सिन टीके का पहला डोज लगा है। दरअसल, कोरोना की इसी देसी वैक्सीन के परीक्षण और प्रभावोत्पादकता को लेकर विपक्ष ने सवाल खड़े किए थे।

अब यह वैक्सीन लगवाकर पीएम मोदी ने विपक्ष को एक तरह से जवाब दिया है। दूसरा यह टीका स्वदेश निर्मित है जो कि पीएम मोदी के 'आत्मनिर्भर' भारत के सपने को आगे बढ़ाने वाला है। वैक्सीन लगने के बाद पीएम मोदी ने कहा कि, 'लगा भी और पता भी नहीं चला।' बता दें कि गत तीन जनवरी को दो भारतीय टीकों ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी एवं एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन कोविशील्ड और भारत बॉयोटेक के कोवाक्सिन टीके के आपात इस्तेमाल की स्वीकृति दी गई थी।

कोविशील्ड टीके को भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने विकसित किया है। दरअसल, कोविशील्ड की वैक्सीन को मंजूरी परीक्षण का तीसरा चरण पूरा करने के बाद मिली, जबकि कोवॉक्सिन अपने परीक्षण के तीसरे चरण में था तभी इसके आपात इस्तेमाल की अनुमति दी गई। कोवाक्सिन के तीसरे चरण के परीक्षण का डाटा अभी मौजूद नहीं था, जिसे लेकर शशि थरूर, मनीष तिवारी समेत विपक्ष के कई नेताओं ने सवाल उठाया।

आज लगातार दूसरे दिन स्थिर रहे पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आपके शहर में क्या है भाव

निफ्टी में 700 अंक की हुई बढ़ोतरी

बाजार इस सप्ताह के माध्यम से स्टॉक पर होगी कड़ी नज़र