आखिर क्यों आई लालू प्रसाद को आडवाणी की याद, जानिए क्या है मामला

पटना: RJD के प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने एक बार फिर से बाबरी मस्जिद का मामला खड़ा कर दिया है। जिसके अतिरिक्त साल 1990 में अपने सीएम कार्यकाल के बीच बीजेपी नेता लाल कृष्ण आडवाणी  को गिरफ्तार किए जाने की बात भी याद आई।  दरअसल, सोमवार रात्रि को RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने अपने पुराने दिनों को याद करते हुए ट्विटर पर पोस्ट किया है कि 'राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद के मसले ने देश को एक नाजुक मोड़ पर ला दिया है। 

मैंने आडवाणी को हिरासत में लेकर  पूरे विश्व को एक संदेश दिया था कि इंडिया में आज भी शांतिप्रिय व धर्मनिरपेक्ष ताकतें मजबूत हैं। हममें इतनी शक्ति है कि हम फिरकापरस्त व फासीवादी ताकतों को उखाड़ फेकें। जहां इस बात का पता चला है कि RJD ने 6 दिसंबर यानी सोमवार को बाबरी मस्जिद शहादत दिवस मनाने का निर्णय किया गया था। पार्टी के प्रदेश कार्यालय में बाबरी मस्जिद शहादत दिवस का आयोजन की सूचना प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने की थी।

23 अक्टूबर 1990 को लालू ने किया था आडवाणी को गिरफ्तार: आडवाणी की रथ यात्रा 25 सितंबर 1990 को सोमनाथ से शुरू होकर 30 अक्टूबर को अयोध्या में कारसेवा के साथ समाप्त होने वाली थी। मगर, बिहार पहुंचते-पहुंचते यात्रा को इतना जनसमर्थन मिला कि तत्कालीन सरकारें हैरान हो गई थी। बिहार के तत्कालीन सीएम लालू प्रसाद यादव ने 23 अक्टूबर को ही आडवाणी को हिरासत में लिया गया था।

 

Punjab Assembly Elections: अरविंद केजरीवाल के निशाने पर चरणजीत सिंह चन्नी

चीन के आक्रमण पर कांग्रेस ने लोकसभा में स्थगन नोटिस दिया

संसद का शीतकालीन सत्र : भाजपा की बैठक जारी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -