आखिर क्या सोचकर ज़ाहिर खान ने किया था 'नक़ल बॉल' का अविष्कार

इंडियन क्रिकेट की हिस्ट्री में कई दिग्गज खिलाड़ी आए, जिन्होंने अपना एक नाम दर्ज किया। उन्हीं में से एक ज़हीर खान (Zaheer Khan) भी है। पूर्व भारतीय बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ ज़हीर खान आज अपना 44वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे है। वर्ष 2000 में सौरव गांगुली की कप्तानी में डेब्यू करने वाले ज़हीर खान को क्रिकेट का इतना जनून था कि उन्होंने इंजीनियरिंग को त्याग कर के क्रिकेट का चयन किया। इंजीनियर हमेशा कुछ नई खोज करत हैं। ज़हीर ने भी ऐसा ही किया। उन्होंने क्रिकेट की दुनिया में ‘नकल बॉल’ का आविष्कार कर डाला है।

यहां से शुरु हुई 'नकल बॉल': वर्ष 2004-05 के दौरान ज़हीर खान (Zaheer Khan) के करियर का खराब फेस भी चल रहा है। उस समय उन्हें टीम से बाहर भी किया जा चुका है। इसी समय उन्होंने इस गेंद की खोज की और इसका जमकर अभ्यास भी किया। जब दुबारा उनकी टीम में वापसी कर ली, फिर उन्होंने इस गेंद का उपयोग किया। ज़हीर खान की ‘नकल बॉल’ काफी फेमस है और गेंदबाज़ आज भी इस गेंद का बखूबी उपयोग बल्लेबाज़ों को चमका देने के लिए करते हैं।

इंजीनियर से बने क्रिकेटर: 7 अक्टूबर 1978 को महाराष्ट्र के श्रीरामपुर में जन्म लेने वाले ज़हीर खान के क्रिकेटर बनने की स्टोरी बहुत ही ज्यादा लग है। ज़हीर के जीवन की शुरुआती पढ़ाई श्रीरामपुर के हिंद सेवा मंडल न्यू मराठी प्राइमरी स्कूल से पूरी हुई।  जिसके उपरांत केजे सोमैया सेकेंड्री स्कूल में उन्होंने आगे की स्टडी की। फिर उन्होंने इंजीनियरिंग में दाखिला ले लिया है। लेकिन उनका दिल और दिमाग में सिर्फ क्रिकेट में ही बसा हुआ था। ज़हीर की इस दीवनागी को देख उनके पिता ने उन्हें सलाह दी कि देश में इंजीनियर तो बहुत हैं, तुम तेज़ गेंदबाज़ बनो। पिता की इस बात से ज़हीर के ज़हीर खान बनने की सफर शुरु हो गया।

गौरतलब है कि आज ज़हीर खान को ‘ज़ैक’ नाम से भी पहचाना जाता है। 17 वर्ष की उम्र में मुंबई आने के उपरांत ज़हीर खान ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत कर दी। जिमखाना क्लब के विरुद्ध खेले गए एक मैच में 7 विकेट चटकाकर ज़हीर खान चर्चाओं का विषय बन गए। उस वक़्त के MRF के पेस फाउंडेशन टीए शेखर की नज़र ज़हीर खान पर पड़ी और वो ज़हीर को चेन्नई लेकर चले गए, जहां ज़हीर ने अपने आप को तैयार किया। इसके बाद उन्होंने फर्स्ट क्लास और इंटरनेशनल क्रिकेट में अपने कदम रखे।

ऐसा रहा करियर: वर्ष 2011 के वर्ल्ड कप के 23 विकेट लेने वाले ज़हीर खान का करियर बहुत ही शानदार रहा। वर्ल्ड कप में ज़हीर खान ने कुल 44 विकेट झटक लिए थे। उन्होंने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर में कुल 92 टेस्ट मैच खेले हैं, इसमें उन्होंने 311 विकेट अपने नाम किए हैं। वहीं, 200 वनडे खेलते हुए 282 और 17 टी20 इंटरनेशनल खेलते हुए 17 विकेट अपनी झोली में गिरा लिए।

Ind Vs SA: क्या संजू की एक 'गलती' के कारण जीतते-जीतते हार गई टीम इंडिया ?

ग्राहम रीड, जेनेक शोपमैन ने अपने नाम किया ये शानदार खिताब

Pro Kabaddi League में खिताब के लिए भिड़ेंगी ये 12 टीमें, किसके सिर सजेगा जीत का ताज

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -