12वी पास ऑपथैलमॉलजी में बना सकते है करियर, सफलता के लिए मिलेंगे कई अवसर

12वी पास ऑपथैलमॉलजी में बना सकते है करियर, सफलता के लिए मिलेंगे कई अवसर

सभी बोर्ड परीक्षाओ को लेकर अभी फाइनल डिसिशन होना बाकी है लेकिन एक बाद तय है जो है इन छात्रों को अपने भविष्य के लिए अब ही से सोचना जरुरी है और वो है की 12 के बाद वे किस फील्ड को चुनना चाहेंगे और किस जगह अपना करीयर बनाएंगे ? इसी सम्बन्ध में जानकारी के अभाव में कई छात्र भटक जाते है इसलिए आज हम आपके साथ शेयर करने जा रहे है आँखों के इलाज से जुड़े ऑपथैलमॉलजी तकनीशियन कोर्स के बारे में , इसमें कई सफलताओ के साथ अपार सफलताओ के लिए अवसर उपलब्ध है।, आइये जाने

एक ऑफथल्मिक असिस्टेंट का काम आंखों की जांच के साथ-साथ ट्रीटमेंट व बचाव का प्रशिक्षण दिया जाता है। इसके अलावा क्लिनिकल डेटा इकट्ठा करना, मरीज के रिकॉर्ड को संभालने का जिम्मा भी असिस्टेंट का होता है। इसके तहत कई तरह के आंखों से संबंधित क्लिनिकल फंक्शन किए जाते हैं। ऑफथल्मिक असिस्टेंट, आंखों के डॉक्टर को मरीज की हिस्ट्री, विभिन्न तरह की टेक्निकल जांच करने में मदद करता है।

योग्यता ऑफथल्मिक टेक्निशन बनने के लिए आपको डिग्री या डिप्लोमा कोर्स करना जरूरी है। डिप्लोमा कोर्स 2 साल का होता है। इस कोर्स को करने के लिए अभ्यर्थी को कम से कम 12वीं पास होना चाहिए और उसने फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायॉलजी जैसे विषयों को पढ़ा हो। दरअसल, साइंस के स्टूडेंट्स के लिए यह फील्ड बहुत मुफीद है।

इस फील्ड में कांट्रैक्ट और रिफ्रैक्टिव सर्जरी, ग्लूकोमा ट्रीटमेंट, मेडिकल रेटिना ऑपथैलमॉलजी और न्यूरो ऑपथैमॉलजी जैसे क्षेत्र शामिल हैं। इस कोर्स के तहत ऑक्यूलर फार्माकॉलजी, केराटोमेटरी, आई मसल्स, रेफ्राक्टोमेटरी, विजुअल एक्युटी वगैरह पढ़ाया जाता है। डिप्लोमा इन ऑफथलमॉलजी दो वर्ष का कोर्स है। पहले सेमिस्टर में एक वर्ष तक थिअरी और प्रैक्टिकल कराया जाता है, फिर 6 महीने तक मोबाइल यूनिट के जरिए प्रशिक्षण दिया जाता है और अगले 6 महीने प्राइमरी हेल्थ क्लिनिक में प्रशिक्षण दिया जाता है। इसमें 17 से 35 वर्ष तक की उम्र के अभ्यार्थी ऐडमिशन ले सकते हैं।

कोर्सइस फील्ड में डिप्लोमा, बैचलर, मास्टर और डॉक्टोरल कोर्स कर सकते हैं जिसकी डीटेल नीचे दी गई है।

* एमबीबीएस (बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी)

प्रमुख संस्थान
* ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, नई दिल्ली
* शिवालिक इंस्टिट्यूट ऑफ पैरामेडिकल टेक्नॉलजी, चंडीगढ़
* पैरामेडिकल कॉलेज, दुर्गापुर
* भारतीय विद्यापीठ डीम्ड यूनिवर्सिटी मेडिकल कालेज, पुणे
* अमृता स्कूल ऑफ मेडिसिन, कोयंबटूर
* आर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज, पुणे
* क्रिस्चन मेडिकल कॉलेज, वेल्लुरु
* डीवाई पाटिल मेडिकल कॉलेज, नवी मुंबई
* इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी कॉमन एंट्रेंस टेस्ट
* भारती विद्यापीठ कॉमन एंट्रेंस टेस्ट

सैलरी इस फील्ड में भारत में औसत 9 लाख रुपये सालाना का पैकेज मिलता है। जितना अनुभव होता है, उतनी ज्यादा कमाई होती है।

नर्सिंग अधिक्षक और फार्मेसिस्ट के पदों पर जॉब ओपनिंग, जानें क्या है अंतिम तिथि

रिसर्च तकनीशियन के पदों पर निकली भर्तियां, जानें क्या है चयन प्रक्रिया

आर्किटेक्ट के पदों पर निकली वैकेंसी, मिलेगा आकर्षक वेतन