सभी देशों के साथ अच्छे संबंध बनाना चाहती है तालिबान सरकार

अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार बन चुकी है और इस सरकार को अब तक लगभग तीन महीने से अधिक का समय बीत चुका है। ऐसे में तालिबान अपने देश में शासन को सही से चला रही है। अब हाल ही में अफगानिस्तान की कार्यवाहक सरकार के कार्यवाहक प्रधानमंत्री (पीएम) मुल्ला हसन अखुंद ने कहा है कि, 'अफगानिस्तान पड़ोसियों और क्षेत्रीय देशों सहित अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ अच्छे संबंध बनाना चाहता है।' जी दरअसल हाल ही में हसन अखुंद ने राज्य में प्रसारित अपने संबोधन में यह बयान दिया है।

इस बयान में कहा गया है, 'इस्लामिक अमीरात सभी देशों के साथ अच्छे संबंध, आर्थिक संबंध और सह-अस्तित्व चाहता है। अफगानिस्तान किसी भी देश के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करेगा, यह हमारी नीति नहीं है।' आपको बता दें कि यह संबोधन बीते शनिवार रात को रेडियो टेलीविजन ऑफ अफगानिस्तान (आरटीए)पर चलाया गया। वहीं एक रिपोर्ट को माने तो 15 अगस्त को तालिबान के अधिग्रहण और 7 सितंबर को अपनी कार्यवाहक सरकार के गठन के बाद अपने पहले संबोधन में हसन अखुंड ने कहा था, 'अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल किसी भी देश के खिलाफ नहीं किया जाएगा और नया प्रशासन किसी को भी किसी के खिलाफ अफगान जमीन का इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं देगा।' इसी के साथ उन्होंने कहा कि, 'अफगानिस्तान से किसी देश को कोई नुकसान नहीं हुआ है और अफगानिस्तान से किसी को नुकसान नहीं होगा। अब, अफगानिस्तान का इस्लामी अमीरात हमारे देश के पुनर्निर्माण पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।'

आगे उन्होंने यह भी कहा कि, 'अफगानिस्तान पर दबाव डालने से किसी को फायदा नहीं होगा।' इसी के साथ महिलाओं की शिक्षा के बारे में, हसन अखुंड ने कहा, 'महिलाओं के अधिकारों की रक्षा की जाती है, और इस्लामी अमीरात महिलाओं और लड़कियों के लिए शिक्षा के अधिकारों का सम्मान करता है।'

WHO ने अफगान को दी बड़ी चेतावनी, कहा- "32 लाख बच्चे होंगे कुपोषण के शिकार..."

'Omicron Variant' आते ही कंपनियों ने उठाया बड़ा कदम, कहा- बस कुछ हफ्ते दीजिए...

तलाक के ल‍िए पत्नी ने की 1 करोड़ की ड‍िमांड, पति ने नदी में लगा ली झलांग

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -