अफगान गर्ल शरबत का होगा अब भारत में मुफ्त इलाज

नई दिल्लीः तीन दशक से भी ज्यादा समय से पाकिस्तान में रहने वाली तीन बच्चों की मां शरबत को फर्जी दस्तावेज के आधार पर बुधवार को अफगानिस्तान भेज दिया गया था। ज्योग्राफिक मैगजीन के द्वारा ही अफगान शरणार्थीयों का संकट पूरी दुनिया ने पहचानना शुरू किया था। जब 1984 को नेशनल ज्योग्राफिक मैगजीन ने शरबत की तस्वीर अपने कवर पेज पर छापी थी तभी से ही यह पूरी दुनिया में मशहूर हो गए। 

अफगान गर्ल के नाम से मशहूर गुला जिनका इलाज अब भारत में किया जाएगा। जी हां दरअसल भारत में अफगानिस्तान के राजदूत शैदा अब्दाली ने बताया कि भारत सरकार ने शरबत का मुफ्त इलाज कराने की बात कही है। तीन दशक से भी ज्यादा समय से पाकिस्तान में रहने वाली तीन बच्चों की मां शरबत को फर्जी दस्तावेज के आधार पर बुधवार को अफगानिस्तान भेज दिया गया था। वह हेपेटाइटिस-सी से पीडि़त हैं। 

जानकारी के अनुसार जल्द ही शरबत भारत में मौजूद होंगी। और इनका इलाज बेंगलुरू के एक अस्पताल में किया जाएगा। 32 साल पहले फोटोग्राफर स्टीव मैककरी ने शरबत की तस्वीर ली थी।

धड़ल्ले से चल रही नोटों की छपाई, धैर्य रखें आम जन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -