वाल्मीकि टाइगर पार्क में जुटी पर्यटकों की भीड़, प्रशासन ने शुरू की नई सेवाएं

Oct 20 2019 05:24 PM
वाल्मीकि टाइगर पार्क में जुटी पर्यटकों की भीड़, प्रशासन ने शुरू की नई सेवाएं

पटना: बिहार में मॉनसून लौटने के बाद एक बार फिर वाल्मीकि टाइगर रिजर्व में पर्यटकों की तादाद बढ़ती जा रही है. पर्यटकों के लिए जंगल सफारी सेवा भी चालू कर दी गई है. बड़ी तादाद में पर्यटक वाल्मीकि टाइगर रिजर्व में जल-जंगल और जानवरों के साथ प्रकृति का लुत्फ़ उठाने  पहुंच रहे हैं. वाल्मीकि टाईगर रिजर्व और जल संसाधन विभाग की तरफ से पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए नवनिर्मित इको पार्क के साथ राफ्टिंग सेवा भी आरंभ की गई है.

वहीं, जंगल में कैंपिंग करने के शौकीन लोगों के लिए कम दामों पर पर्यटकों के लिए बैंबू हट, ट्री हट, सुईट और वाल्मीकि विहार जैसे गेस्ट हाउस के साथ सरकारी दर पर कैंटीन का भी इंतज़ाम किया गया है.  काफी किफायती दरों में यहां पर कैंपिंग का बंदोबस्त है. जंगल कैंप में बने बैंबू ट्री हाउस का चार्ज केवल 1000 रुपए है. वहीं, सूट का चार्ज 1200 रुपए, भेड़िहारी कंपार्ट में पर्यटकों के बजट को ध्यान में रखते हुए केवल 50 रुपए में ठहरने का इंतज़ाम भी है. 

जहां सरकार ने इतनी व्यवस्था की हैं, वहीं पर्यटकों का कहना है कि इस टाइगर रिजर्व को सरकार वैश्विक स्तर का इंफ्रास्ट्रक्चर नहीं दे पा रही है. लोगों का कहना है कि विशेष कर टाइगर रिजर्व को शहरों से जोड़ने वाली सड़क बदहाल है. सीएम नीतीश कुमार वाल्मीकि नगर को पर्यटन नगरी के रूप में डेवेलप करने की योजना बना रहे हैं.

देश के उत्तरी राज्यों में टमाटर, प्याज और दाल जैसी जिंसों की बढ़ेगी सप्लाई

भारत में घट सकते हैं अमेरिकी डेयरी उत्पादों के दाम

मंदी का असरः प्रमुख शहरों में आवास की बिक्री में आयी तेज गिरावट, पढ़ें रिपोर्ट