मनरेगा के लिये अब आधार कार्ड की अनिवार्यता

नई दिल्ली :  केन्द्र की मोदी सरकार ने आधार कार्ड की उपयोगिता के दायरे को और अधिक बढ़ाते हुये मनरेगा के तहत काम करने वालों के लिये भी इसे अनिवार्य कर दिया है। जानकारी मिली है कि मनरेगा के अंतर्गत पंजीकरण करने वाले लोगों को तब तक काम नहीं दिया जा सकेगा जब तक वे अपने पंजीकरण के साथ आधार कार्ड को लिंक न करा लें। हालांकि आधार कार्ड की अनिवार्यता 1 अप्रैल से लागू की गई है।

गौरतलब है कि योजना के तहत प्रत्येक परिवार के एक सदस्य को सौ दिनों का  रोजगार अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराया जाता है। जानकारी मिली है कि पंजीकरण कराने वालों को आधार की प्रति भी उपलब्ध करानी होगी या फिर जिनके पास आधार कार्ड नहीं है उन्हें 31 मार्च तक आधार कार्ड बनवाना होगा।

जब तक आधार कार्ड संबंधित के पास नहीं आ जाता तब तक पहचान पत्र के रूप में राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या वोटर आईडी कार्ड आदि देना अनिवार्य होगा, बावजूद इसके आधार कार्ड की अनिवार्यता को दरकिनार नहीं किया जा सकेगा। मालूम हो कि सरकार ने आधार कार्ड को लगभग हर जगह अनिवार्य कर दिया है।  

पासपोर्ट बनवाने में आधार कार्ड अनिवार्य

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -