अध्यात्मिक सत्संग समारोह में भक्तों को मिला सच्ची भक्ति का रास्ता

सत्संग में भारी संख्या में दूर दराज़ से आए महिला व पुरूष उपस्थित रहे सरायमीर के निकट जय गुरूदेव आश्रम खा़नपुर के विशाल मैदान में वार्षिक अध्यात्मिक सत्संग समारोह को जय गुरूदेव धर्म प्रचारक संस्था के अध्यक्ष पंकज जी महाराज ने श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुये कहा कि संतो ने इस दुनिया को सुख दुख की नगरी बताया । यह सुख दुख की समस्याएं मनुष्य के पूर्व जन्म के पापों - पुण्यों का परिणाम होता है। यह दुख सुख की समस्याएं न कभी हल हुई हैं न होगी यह क्रमवत जारी रहती है। जब मनुष्यों को महापुरूष मिल जातें है और सच्ची भक्ति का रास्ता बता देते हैं तो जब तक मन उस ईश्वर की भक्ति में लगा रहेगा तभी तक सुख का अनुभव होगा।

बाबा जय गुरूदेव जी महाराज ने सावधान किया था कि आगे समय खराब आएगा उसे भूलो मत अच्छा वक्त लाना चाहते हो तो अपने कर्माें को ठीक करो। सत्संग में भारी संख्या में दूर दराज़ से आए महिला व पुरूष उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन सत्यशील बन्धु ने किया। कार्यक्रम संयोजक सतीश चन्द यादव राष्ट्रीय उपदेशक जय गुरूदेव धर्म ने आए हुए अतिथियों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम को सफ़ बनाने में रामचरन यादव जिलाध्यक्ष , प्रहलाद यादव नगर अध्यक्ष, अरविन्द यादव व समस्त स्वंयसेवकों ने पूर्ण योगदान दिया।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -