सेहत के जुरूरी है एक्यूप्रेशर पॉइंट्स का जानना

सेहत के जुरूरी है एक्यूप्रेशर पॉइंट्स का जानना

एक्यूप्रेशर एक प्राचीन चिकित्सा तकनीक है जिसे चीनियों के द्वारा सामने लाया गया था. इससे आपको कई तरह की राहत मिलती है. यह समझना आवश्यक है कि एक्यूप्रेशन तकनीक किस तरह से काम करती है. इस पहले कि आप समझे कि कैसे यह भावनात्मक घावों का उपचार कर सकता है. आज हम कुछ ऐसे ही टिप्स बताने जा रहे हैं जिनके बारे में आप नहीं जानते होंगे. 

जहां दर्द और तनाव हो, प्रेशर के लिए वही जगह है. चूंकि ये जगह स्टिम्यूलेशन के लिए दबा रहे है, प्रेशन अंततः मांसपेशियों में तनाव को कम करता है. ये मांसपेशी फाइबर को फैलाने और रिलेक्स करने का कारण बनता है.

एक्यूप्रेशर पॉइंट्स मरिडीअन के माथ्यम से शरीर के दूसरे महत्वपूर्ण अंगो के साथ जुड़ा है. यह मरिडीअन उर्जा लिंबिक मस्तिष्क को भी उर्जा देती है, जो हम में उतपन्न होने वाले सभी भावनाओँ का स्त्रोत है.  उपचार उर्जा शरीर के अंगो के माध्यम से इन मीडीअन की मदद से फैलती है.

उपचार के लिए, विशेष प्रेशर पॉइंट (जगहों) को जानना जरूरी है. आप इस के लिए एक प्रोफेशनल के लिए जा सकते है. सामान्य समस्या जो एक्यूप्रेशर की मदद से समाप्त की जा सकती है उनमें व्यवहार में बदलाव, इन्सेस्ट, भय, अधिक दर्द, क्रोध, दुर्व्यवहार, चिंता, ईर्ष्या, आत्म-संदेह और बहुत कुछ शामिल है.

एक्यूप्रेशर तकनीक के साथ जुड़ा सबसे बड़ा लाभ यह है कि, ये पूरी तरह से साइड इफेक्ट से मुक्त है. विशेषज्ञों के हाथो के अलावा उपचार तकनीक में उपयोग करने के लिए कुछ नही है. हालांकि, औषधि के सेवन की आवश्यकता नही है, लेकिन जब आप को लगे, आप इस का सहारा ले सकते है.

सर्दीयों में करें इन मसालों का सेवन, मिलेंगे इतने फायदे

यदि आप भी तकिया लगाकर करते है आराम हो आपको भी हो सकते है यह नुकसान

लाइफस्टाइल में बदलाव कहीं आपके माँ बनने के सपने को ना तोड़ दे