समूह और संगठनो के विरोध के बीच मोदी का अमेरिका दौरा, शुरू हुआ अभियान

Sep 24 2015 10:51 PM
समूह और संगठनो के विरोध के बीच मोदी का अमेरिका दौरा, शुरू हुआ अभियान

न्यूयॉर्क : कुछ कार्यकर्ताओं के एक समूह, संगठनों और पटेल समुदाय के कुछ सदस्यों ने पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ अमेरिका में एक अभियान चालू किया है। बता दे की पीएम मोदी आज ही यहां पहुंचे हैं। इस अभियान के तहत कई प्रकार की छोटी-बड़ी गतिविधियां होंगी जो न्यूयॉर्क एवं सैन जोस में की जाएंगी। पीएम मोदी इन्हीं जगहों पर दौरा कर रहे हैं। इन गतिविधियों में सोशल मीडिया पर भी अभियान शामिल है। एलायंस फॉर जस्टिस एंड एकाउंटबिलिटी (एजेए) के नये ‘मोदीफेल’ अभियान के तहत एक बड़ा होर्डिंग भी लगाया है।

अमेरिका को खुद को प्रगतिशील समूहों का गठबंधन बताने वाले एजेए ने सिलिकन वैली में एक सड़क पर होर्डिंग लगाया है। भगवा रंग के इस होर्डिंग में मोदी को जनसभा संबोधित करते हुए दिखाया गया है। जिस पर लिखा गया है, ‘हम मोदी के दमनकारी एजेंडे के खिलाफ हैं। न्यूयार्क स्थित सिख फोर जस्टिस के अनुसार वह संयुक्त राष्ट्र के सामने प्रदर्शन करेगा और 27 सितंबर को सैन जोस में SAP सेंटर के बाहर भी प्रदर्शन करेगा। उसने उस व्यक्ति के लिए 10,000 डालर के इनाम का ऐलान भी किया है जो की फेसबुक मुख्यालय के टाउनहॉल में मोदी और फेसबुक प्रमुख मार्क जुकरबबर्ग की भेंट के दौरान उनसे सवाल करेगा।

गुजरात में पटेल समुदाय के खिलाफ पुलिस कार्रवाई से आक्रोशित पटेल समुदाय के एक वर्ग ने बताया है कि वे न्यूयार्क और सैनजोस में मोदी के खिलाफ काले झंडे दिखाएंगे। अमेरिका स्थित मानव अधिकार वाच ने अमेरिकी प्रौद्योगिकी कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों से भारतीय नेता को यह कहने की अपील की है कि वे उन किन्हीं भी कदमों का विरोध करेंगे जिससे स्वतंत्र अभिव्यक्ति या निजता के अधिकार का क्षरण होता हो।

बता दे की अमेरिका खासकर न्यूयार्क और सिलिकन वैली में मोदी गुगल, एपल, माइक्रोसॉफ्ट, एडोब और फेसबुक जैसी शीर्ष प्रौद्योगिकी कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों से मुलाकात करेंगे। वैसे पटेलों की बहुलता वाले एशियन अमेरिकन होटल ऑनर्स एसोसिएशन ने मोदी को ऐसा नेता बताते हुए उनकी यात्रा का स्वागत किया है जिनका आर्थिक सहयोग एवं नवोन्मेष के प्रोत्साहन का विशिष्ट रिकार्ड रहा है।