जहरीली शराब को लेकर सख्त हुई बिहार सरकार, कई पर ठिकानों पर की छापेमारी

पटना: बिहार में छापेमारी के दौरान लाखों लीटर शराब जब्त की गई है। बिहार के एक्साइज कमिश्नर बी.कार्तिकेय धनजी ने कहा कि बीते 10 दिन में पूरे प्रदेश में 19,175 छापेमारी की गई जिसमें तकरीबन 4,000 अभियोग दर्ज किए गए तथा 4,670 अभियुक्तों को हिरासत में लेकर जेल भेजा गया है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इसी क्रम में तकरीबन 1,70,000 बल्क लीटर शराब भी जब्त की गई तथा 400 गाड़ियों को बरामद किया गया है। साथ ही कहा कि जिन स्थानों पर जहरीली शराब बनती है वहां निरंतर छापेमारी की जा रही है तथा उन सब स्थानों पर ड्रोन से निगरानी रखने की कार्रवाई भी की जाएगी।

वही दूसरी तरफ बिहार में सार्वजनिक मंदिरों को लेकर राज्य धार्मिक न्यास बोर्ड ने बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत अब से सूबे में सभी सार्वजनिक मंदिरों को 4 फीसद कर चुकाना होगा। धार्मिक न्यास बोर्ड के इस फैसले के दायरे में उन मंदिरों को भी सम्मिलित किया गया है, जिसे कोई व्यक्ति अपने घर में बनवाने के बाद उसे सभी लोगों के लिए खोल देता है। इन सभी को अब से अपना पंजीकरण कराना होगा और टैक्स भरना होगा। धार्मिक न्यास बोर्ड ने एक दिसंबर से मंदिरों के पंजीकरण के लिए विशेष अभियान चलाने का फैसला लिया है।

जज की दरियादिली, गरीब छात्रा के IIT में दाखिले के लिए दी फीस

शार्दुल ठाकुर की सगाई में पहुंचे रोहित शर्मा ने अनोखे अंदाज़ में दी बधाई

केंद्र सरकार ने ओमिक्रॉन प्रभावित देशों को टीके की सहायता प्रदान की

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -