पीएनबी घोटाला: नीलाम होंगी नीरव मोदी की लक्ज़री कारें, यहाँ देखिए पूरी सूची

Apr 13 2019 07:00 PM
पीएनबी घोटाला: नीलाम होंगी नीरव मोदी की लक्ज़री कारें, यहाँ देखिए पूरी सूची

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 22 फरवरी को पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में लगभग 13 हजार करोड़ का घोटाले के आरोपी नीरव मोदी के 100 करोड़ रुपये से भी अधिक की शेयर, जमा और लग्जरी कारें सीज कर दी थीं। अब ईडी को नीरव मोदी की लग्जरी कारों की नीलामी के लिए क्लियरेंस मिल चुकी है। नीरव मोदी की लक्ज़री कारों की सूची में 1।38 करोड़ रुपये की Rolls Royce Ghost से लेकर 2।38 लाख रुपये की Honda Brio तक का नाम शुमार है।

कुल 13 लक्ज़री कारों की नीलामी एक पब्लिक प्लेफॉर्म के माध्यम से की जाएगी और यहां तक कि आप इन वाहनों को ऑनलाइन बोली लगाकर खरीद सकते हैं। ईडी, भगोड़े नीरव मोदी से करीब 12,500 करोड़ रुपये की राशि वसूलना चाहता है, जिसे नीरव मोदी ने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) से गैर कानूनी तरीकों से लोन में लिया था।

इन वाहनों की नीलामी 25 अप्रैल को मेटल स्क्रैप ट्रेड कॉर्पोरेशन लिमिटेड (MSTC) के माध्यम से की जाएगी। ये एक प्रदेश के स्वामित्व वाली ई-कॉमर्स कंपनी है जिसे इन वाहनों की नीलामी का कॉन्ट्रैक्ट दिया गया है। इन सभी कारों के लिए एक बेस प्राइस रखी गई है और नीलामी इसी कीमत से आरंभ होगी, जो जितनी अधिक बोली लगाएगा, उसे ही कार दी जाएगी।

कार का नाम                                 बेस कीमतें

Rolls Royce Ghost                 1.38 करोड़ रुपये

Porsche Panamera                 जानकारी उपलब्ध नहीं

Mercedes-Benz GL350         37.8 लाख रुपये

Mercedes-Benz CLS350      14 लाख रुपये

Honda Brio 1                         2.38 लाख रुपये

Honda Brio 2                         2.66 लाख रुपये

Toyota Innova 2.5                 8.75 लाख रुपये

Honda CR-V                         10.15 लाख रुपये

Toyota Fortuner                     9.10 लाख रुपये

Skoda Superb Elegance        5.25 लाख रुपये

Toyota Corolla Altis             3.50 लाख रुपये

BMW X1                              9.80 लाख रुपये

Toyota Innova Crysta           10.50 लाख रुपये

खबरें और भी:-

विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने सचिव को दिये, जेट एयरवेज से संबंधित मुद्दों की समीक्षा करने के निर्देश

केंद्र में बनने वाली नई सरकार बजट में प्रत्यक्ष कर संग्रह लक्ष्य में कर सकती है कटौती

पाकिस्तान में लगातार बढ़ती जा रही है बदहाली, बाजार की हालत बेहद ख़राब