एसिडिटी का निवारण

एसिडिटी का निवारण

कई स्वास्थ समस्याएं ऐसी होती हैं, जिन्‍हें हम खुद ही न्योता देते हैं. हमारे आहार और रोजमर्रा की बुरी आदतें ही कई बार हमारी बिगड़ती सेहत की वजह होती हैं. एसिडिटी भी एक ऐसी समस्‍या है, जिसकी बड़ी वजह हम खुद होते है. एसिडिटी से बचने के उपाय एसिडिटी की बड़ी वजह हमारा आहार होता है. यदि हम अपने भोजन के प्रति सावधानी बरतें तो काफी हद तक इस समस्‍या से बच सकते हैं. आम बोलचाल की भाषा में एसिडिटी को समझें तो यह केवल आंतों में उत्‍पन्‍न होने वाली अम्‍ल की अधिकता है.

तेज रफ्तार भागती जिंदगी, खाने-पीने का वक्‍त तय न होना और देर रात तक जागते रहने जैसे ऐेसे तमाम कारण हैं, जो पेट में एसिडिटी पैदा करते हैं. गरमी के मौसम में यह कुछ ज्‍यादा ही परेशान करती है. एसिडिटी कई बार कुछ ही देर में स्‍वत: ठीक हो जाती है तो घबराने की कोई बात नहीं. लेकिन, इसके लगातार बने रहने पर अल्‍सर, पेट की गड़बड़ी जैसी कई परेशानियां स्‍थायी तौर पर रह सकती हैं.

ऐसे निपटें एसिडिटी से:

संतुलित आहार और व्‍यायाम को अपने जीवन का हिस्‍सा बनाकर आप एसिडिटी को काफी हद तक काबू कर सकते हैं. हमें पर्याप्‍त नींद लेनी चाहिए. साथ ही नियत समय पर सोने व जागने से भी आप एसिडिटी को रोक सकते हैं. तेज दौड़ती जिंदगी में अपने जीने का अंदाज बदलना भी आपके लिए मुनासिफ रहेगा.