आर्थिक तंगी के कारण फुटबॉल कोच बना था बगदादी, ऐसे मिली मौत

Oct 29 2019 03:01 PM
आर्थिक तंगी के कारण फुटबॉल कोच बना था बगदादी, ऐसे मिली मौत

बीते दिनों बगदादी जो की इस्लामिक स्टेट में आईएसआईएस का मुख्य मारा गया।अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने सोमवार को यह एलान किया की बगदादी को मौत के घाट उतारा गया। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने बताया की अमेरिका के स्पेशल फोर्स के एक ऑपरेशन के चलते बगदादी ने खुद को बम वाला जैकट पहनकर खुद को उड़ा लिया| बगदादी को फुटबॉल  में काफी दिलचस्पी थी,बागदादी का जन्म मध्य इराक के सामरा जिले के अल जल्लाम में हुआ था। साल 1991 में सामरा हाई स्कूल से पढ़ाई पूरी करने के बाद बगदादी की दिलचस्पी फुटबॉल में बढ़ी और  वह फुटबॉल खेलने लगा। बगदादी फुटबॉल खेल में स्ट्राइकर था और उसके के खेल का सबसे पसंदीदा हिस्सा वह होता जब वह खेल के दौरान गोल मरता था| वह एक स्थानीय फुटबॉल क्लब के लिए कुछ समय तक जुड़ा भी रहा और वह रहकर उसने काफी गेम खेले थे |

न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार फुटबॉल को अपनी किक से गोल पोस्ट के भीतर नहीं मार पाने के बाद वह बेहद ही निराश हो जाता, जो एक खिलाड़ी के लिए स्वभाविक भी है,पर बगदादी की निराशा हताशा में बदल जाया करती थी और वह जीतने के लिए कुछ भी करने को रेडी था| 
यूनिवर्सिटी की पढ़ाई के लिए अबू बकर अल-बगदादी बगदाद गया, जहां वह अपनी पढ़ाई का खर्च निकालने के लिए एक फुटबॉल टीम को कोचिंग देता था।अमेरिका ने इराक के फलुजा से फरवरी 2004 में बगदादी को गिरफ्तार किया था यहाँ से बगदादी को बक्का स्थित नजरबंदी शिविर में 10 महीने तक कैद में रखा गया। वहां पर लोग फुटबॉल खेलने में बगदादी की काबिलियत को देखकर उसे ‘मैराडोना’ पुकारते थे।

गांगुली के अध्यक्ष बनने के बाद भारतीय टेस्ट इतिहास में पहली बार हो सकता है कुछ ऐसा

मुशफिकुर रहीम को नही करना है ये काम, लगता है भार बढ़ाने वाला

सचिन तेंदुलकर ने बोल्ड करने वाले गेंदबाज को दिया ऑटोग्राफ, फिर कहा कुछ ऐसा ​