स्मृति ईरानी को एक और झटका, अब विपक्ष आया विरोध में

Apr 18 2015 08:58 AM
स्मृति ईरानी को एक और झटका, अब विपक्ष आया विरोध में
style="text-align: justify;">नई दिल्ली : लगता है स्मृति ईरानी की किस्मत इन दिनों उनका साथ नहीं दे रही है. पहले तो उनको BJP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी से बाहर कर दिया गया, फिर PMO ने उनके OSD के अपॉइंटमेंट में भी रोक लगा दी. अब स्मृति पर एक नई मुसीबत आ गई है. दरअसल हाल ही में विपक्ष के चार राज्यसभा सासंदों ने प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति को एक पत्र लिखा, जिसमे उन्होंने स्मृति के मंत्रालय में दखल देने की मांग की है. पत्र लिखने वाले चार संसद है कांग्रेस के राजीव शर्मा, जेडीयू के के. सी. त्यागी, सीपीएम के डी. राजा और एनसीपी के डी. पी. त्रिपाठी.

इन सांसदों ने कहा है कि ईरानी ने प्रीमियम इंस्टिट्यूशंस की इमेज है, इसलिए उन्होंने प्रधानमंत्री से स्मृति ईरानी का विभाग बदलने की मांग की है. सांसदों ने अपने पत्र में तक्षशिला और नालंदा के सुनहरे गौरव का हवाला देते हुए कहा कि पिछले कुछ समय में देश के कुछ प्रीमियिम संस्थानों की स्वायत्तता पर सोचे-समझे तरीके से चोट की गई.

सांसदों का कहना है कि स्मृति ईरानी के रहते आईआईटी जैसे संस्थानों व केंद्रीय यूनिवर्सिटीज के प्रमुख पदों पर बैठे व्यक्तियों को बेवजह परेशान किया जा रहा है. इसके अलावा सांसदों ने हायर एजुकेशन के क्षेत्र में RSS के बढ़ते हस्तक्षेप को लेकर भी चिंता जाहिर की है.