इस कारण अब भी जिंदा है आप और कांग्रेस के बीच गठबंधन की उम्मीदें

Apr 20 2019 06:55 PM
इस कारण अब भी जिंदा है आप और कांग्रेस के बीच गठबंधन की उम्मीदें

नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस के साथ गठबंधन की आखिरी उम्मीद को जिंदा रखते हुए शुक्रवार को अपने प्रत्याशियों से नामांकन नहीं करवाए। दरअसल पार्टी को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की हां-ना का इंतजार है। ऐसे में आप ने अब सोमवार को नामांकन दाखिल करने की बात कही है, वहीं गठबंधन का एक नया फॉर्मूला भी दिया है। इसके तहत दिल्ली में आप कांग्रेस के 4-3 के फॉर्मूले पर तभी राजी होगी, जब कांग्रेस हरियाणा में आप व जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के लिए तीन सीटें छोड़ दे। 

दिल्ली में पीएम मोदी से मिली सुमित्रा महाजन, इंदौर पर संशय अब भी बरकरार

जल्द होगा अंतिम निर्णय 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार आप का का दावा है कि वह रविवार तक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के जवाब का इंतजार करेगी। गठबंधन न होने की सूरत में आप के सभी प्रत्याशी सोमवार को नामांकन पत्र  भरेंगे। उधर, कांग्रेस ने अपने पहले के रुख को दोहराते हुए कहा है कि गठबंधन का चैप्टर लगभग बंद है। हरियाणा में समझौते की कोई बातचीत नहीं होगी। दिल्ली में अगर आप 4-3 के फॉर्मूले पर राजी हो जाए तो ही गठबंधन की थोड़ी संभावना बचती है। 

लीबिया में बसे भारतीयों से विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने की तुरंत देश छोड़ने की अपील

राहुल के जवाब का इंतजार  

जानकारी के अनुसार पार्टी कार्यालय में मीडिया से बात करते हुए प्रदेश संयोजक ने कहा कि आप देश को भाजपा की तानाशाही से बचाने के लिए कांग्रेस को आखिरी मौका दे रही है। शनिवार को आप के उत्तर पश्चिमी, चांदनी चौक व पूर्वी दिल्ली लोक सभा सीट के उम्मीदवारों को अपना नामांकन करना था, लेकिन पार्टी ने फैसला किया है कि रविवार तक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के जवाब का इंतजार करेंगे।

लोकसभा चुनाव: पीएम मोदी का व्यापारियों से वादा, सरकार बनी तो 50 लाख तक बिना गारंटी लोन

आज बरेली में चुनावी जनसभा को संबोधित करेंगे पीएम मोदी

प्रकाश जावड़ेकर का दावा, कहा- 2014 से भी अधिक सीटें जीतेगी भाजपा, एनडीए को मिलेगा प्रचंड बहुमत