दिल्ली में फिर अटका कांग्रेस-आप गठबंधन, पंजाब- हरियाणा को लेकर भी संशय

दिल्ली में फिर अटका कांग्रेस-आप गठबंधन, पंजाब- हरियाणा को लेकर भी संशय

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी ने राजधानी दिल्ली में कांग्रेस के साथ गठजोड़ करने के लिए एक शर्त रखते हुए कहा है कि पार्टी कांग्रेस के साथ तभी चुनावी गठबंधन करेगी जब हरियाणा और चंडीगढ़ में भी दोनों पार्टियां एक साथ मिल कर चुनाव लड़ें. आप के साथ गठबंधन के निर्णय पर कांग्रेस नेतृत्व द्वारा शनिवार को निर्णायक स्थिति में पहुंचने की सुगबुगाहट के साथ ही दिल्ली में सत्तासीन पार्टी ने यह शर्त रख दी है.

ममता के गढ़ में पीएम मोदी की दहाड़, कहा - रैली में ये भीड़ 'दीदी' की हार का स्मारक

पार्टी सूत्रों के अनुसार आप की ओर से कांग्रेस नेतृत्व के सामने दो शर्तें रखी गयी हैं. इसमें पहली शर्त यह है कि दिल्ली के साथ हरियाणा और चंडीगढ़ में भी कांग्रेस गठबंधन कर चुनाव लड़े और दूसरा, कांग्रेस को आप के दिल्ली को पूर्ण राज्य के दर्जे की मांग का समर्थन करे. आप अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कांग्रेस खेमे में गठबंधन के मसले पर पिछले दो दिनों से जारी हलचल को देखते हुए आप की दिल्ली इकाई के संयोजक गोपाल राय, सांसद संजय सिंह और दिग्गज नेता मनीष सिसोदिया के साथ अहम् बैठक की.

वैद्यनाथ ग्रुप के मालिक को भाजपा ने बनाया प्रत्याशी, चुनावी मैदान रहेगा झांसी

पार्टी के एक नेता ने जानकारी देते हुए बताया है कि, 'कांग्रेस के साथ गठबंधन एक ही शर्त पर संभव है जब हरियाणा की दस, दिल्ली की सात और चंडीगढ़ लोकसभा सीटों पर दोनों दल गठबंधन कर चुनाव लड़ें. इसके साथ ही कांग्रेस अगर आप के साथ गठबंधन करना चाहती है तो उसे आप की दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग का भी समर्थन करना चाहिये.''

खबरें और भी:-

तेजस्वी यादव का संगीन आरोप, कहा- मुझे लालू जी से मिलने नहीं दे रहे भाजपाई गुंडे...

चुनाव आयोग की ममता को दो टूक, कहा - हमें विश्वसनीयता सिद्ध करने की जरुरत नहीं...

OBC आरक्षण: सुप्रीम कोर्ट ने आंध्र प्रदेश और तेलंगाना सरकार को जारी किया नोटिस