बड़े-बड़े अक्षरों में लिखकर और बोलकर माफ़ी मांगेगा AajTak, सुशांत केस में दिखाई थी फर्जी ख़बरें

Oct 24 2020 10:32 AM
बड़े-बड़े अक्षरों में लिखकर और बोलकर माफ़ी मांगेगा AajTak, सुशांत केस में दिखाई थी फर्जी ख़बरें

मुंबई: सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में ‘न्यूज़ ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन (NBSA)’ ने ‘आज तक’ न्यूज़ चैनल को आदेश दिया है कि वो मंगलवार (अक्टूबर 27, 2020) को रात 8 बजे फर्जी न्यूज़ दिखाने के लिए माफ़ी माँगे, और 1 लाख रुपए का जुर्माना भी जमा करे। दरअसल, ‘आज तक’ ने सुशांत सिंह राजपूत के आखिरी ट्वीट्स बता कर फर्जी कंटेंट दिखाया था। जून 20, 2020 को नीलेश नवलखा द्वारा की गई शिकायत पर कार्रवाई करते हुए NBSA ने ये फैसला लिया।

‘आज तक’ चैनल को आदेश दिया गया है कि वो टेक्स्ट के जरिए माफीनामे का प्रसारण करे। ‘आज तक’ को NBSA ने कहा है कि माफीनामे का ये टेक्स्ट बड़े अक्षरों में होने चाहिए और साथ ही बैकग्राउंड में वॉयस ओवर के द्वारा धीरे-धीरे इस माफीनामे को पढ़ा जाना चाहिए। इसके साथ ही उसे 1 लाख रुपए का जुर्माना भी चुकाना पड़ेगा।  

इसके साथ ही ‘इंडिया टीवी’, ‘ज़ी न्यूज़’ और ‘न्यूज़ 24’ को भी सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में रिपोर्टिंग करने के दौरान पत्रकारिता के सिद्धांतों का उल्लंघन के लिए माफ़ी माँगने के लिए कहा गया है। नीलेश की ओर से वकील द्वय राजेश इनामदार और शाश्वत आनंद ने प्रतिनिधित्व किया। जहाँ ‘ज़ी न्यूज़’ और ‘इंडिया टीवी’ अक्टूबर 27 को माफ़ी माँगेंगे, वहीं ‘न्यूज़ 24’ अक्टूबर 29 को माफ़ी मांगेगा।

एनटीपीसी बाय-बैक के लिए सेबी ने दी छूट

लगातार चौथे सप्ताह सोने में बढ़त, चांदी में गिरावट

एलआईसी ने आईआरबी इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपर्स में 5.27-पीसी के लिए दांव को बढ़ाया