आज भी उसका इंतजार है

आज भी उसका इंतजार है

एक सपना था की मिले किसी का सच्चा प्यार ।

देखा था ज़माने में होता है रिश्तो का व्यापार ।

सच कहती है ये दुनिया बेवफा है तेरा यार ।

वह है एक बेवफा जिससे करते थे हम प्यार ।

दुनिया ने मुझसे पूछा तेरा चेहरा आज उदास क्यों है?

तेरी झील सी आँखो को किसका इंतजार  है ।

उस बेवफा को तो मिल गया अपना प्यार ।

आज भी तुझे उसका इंतजार क्यों है?