जेईई मेन्स के रजिस्ट्रेशन में आधार जरूरी नहीं

Sep 14 2018 05:17 PM
जेईई मेन्स के रजिस्ट्रेशन में आधार जरूरी नहीं

अगर आप ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (JEE Mains) 2019 के लिए रजिस्ट्रेशन करना चाहते हैं और आपके पास आधार नंबर नहीं है, या आपके आधार में कोई गड़बड़ी जो 30 सितंबर तक ठीक नहीं हो पाएगी, तो आपको कोई भी चिंता करने की जरूरत नहीं है। NTA ने औपचरिक तौर पे घोसणा की है कि JEE Main और UGC NET के रजिस्ट्रेशन के लिए आधार नंबर अनिवार्य नहीं है। 

JEE Main 2019 के लिए अपनी परीक्षा रणनीति जानिये यहाँ

यानि आप बिना आधार नंबर के भी फार्म भर सकते हैं। एनटीए के मुताबिक आधार नंबर की जगह कोई भी सरकारी दस्तावजे जैसे बैंक एकाउंट नंबर, पेन कार्ड, वोटर कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट इत्यादि आप प्रूफ के तौर पर लगा सकते हैं। एनटीए ने इसके लिए 11 सिंतबर को एक अधिसूचना भी जारी कर दी है। दरअसल, पिछले कुछ दिनों से UGC NET परीक्षा के लिए फॉर्म भरने को लेकर कई सवाल आ रहे थे। इसे देखते हुए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने यह नोटिफिकेशन जारी किया है। इससे पहले आधार अनिवार्य होने की वजह से कई छात्र परीक्षा से वंचित हो जाते थे। फिलहाल अभी जेईई मेंस के लिए आवेदन की प्रक्रिया जारी है। जो 30 सितंबर तक चलेगी। इसके बाद कोई भी आवेदन मान्य नहीं होंगे। । परीक्षा अगले साल 6 से 20 जनवरी तक आयोजित की जाएगी।

JEE Main यानि ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन की परीक्षा में इस बार कई बदलाव देखने को मिल रहे हैं। सबसे बड़ा बदलाव एग्जाम कंडक्ट करने वाली एजेंसी है। अब से CBSE की जगह नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) परीक्षा का आयोजन करेगी। साथ ही साल में दो बार परीक्षा आयोजित होगी, जो कि छात्रों के लिए एक अतिरिक्त मौका होगा। साथ ही JEE Mains में दो बड़े बदलाव होंगे। एक बदलाव रैंकिंग से संबंधित है तो और दूसरा एग्जाम मीडियम और फॉर्मेट से। परीक्षा पूरी तरह से कंप्यूटर बेस्ट होगी। परीक्षा कई दिनों तक चलेगी।  

2018 तक छात्रों की रैंकिंग उनके द्वारा परीक्षा में हासिल किए अंकों के आधार पर बनती थी, लेकिन अब यानि 2019 से प्राप्तांकों की जगह पर्सेंटाइल स्कोर के आधार पर रैंकिंग बनेगी।  अब सवाल ये की पर्सेंटाइल क्या है और कैसे इसको निकाला जाता है। पर्सेंटाइल का मतलब होता है कितने छात्र आपसे नीचे है। यानि सीधी भाषा में कहें तो, आपको कितने छात्रों से ज्यादा नंबर मिले। जैसे आपका पर्सेंटाइल 80 फीसदी है तो इसका मतलब हुआ कि आपने 80 फीसदी उम्मीदवारों से ज्यादा मार्क्स हासिल किए हैं।

ऐसे निकाला जाता है पर्सेंटाइल

फार्मूला- 100x किसी ग्रुप में सबसे ज्यादा मार्क्स लाने वाले छात्रों से कम अंक लाने वाले छात्रों की कुल संख्या / ग्रुप के कुल कैंडिडेट्स की संख्या

उदारहण- मान लीजिए 1000 छात्रों ने जेईई परीक्षा दी। और आपने परीक्षा में  70 प्रतिशत अंक हासिल किए और 800 छात्रों का स्कोर उससे कम है। तो उसका पर्सेंटाइल स्कोर इस तरह निकालेंगे :-

100 x कम स्कोर करने वाले छात्रा/ टोटल छात्र

यानि  100 x 800/1000 =   80

यानि आपका पर्सेंटाइल हुआ 80।

JEE  Mains की पूरी समय सारणी 

गौरतलब है की NTA यानि राष्ट्रीय परीक्षण संस्थान ने JEE Main के दोनों चरणों - जनवरी तथा अप्रैल सत्र के लिए पूरी समय सारणी की अधिसूचना जारी कर दी है ताकि सभी उम्मीदवार पहले से ये तय कर पाएं की किस स्तर के लिए परीक्षा देना कहते हैं और उसी अनुसार अपनी रणनीति निर्धारित कर लें।

JEE MAINS-1

आवेदन करने की तारीख- सितंबर 2018 -30 सितंबर 2018

एडमिट कार्ड जारी होने की तारीख- 17 दिसंबर 2018

परीक्षा की तारीख- जनवरी - 20 जनवरी 2019 के बीच

रिजल्ट जारी होने की तारीख- 31 जनवरी 2019

JEE MAINS-2

आवेदन करने की तारीख- फरवरी - मार्च 2019 तक

एडमिट कार्ड जारी होने की तारीख- 18 मार्च 2019

परीक्षा की तारीख- अप्रैल - 20 अप्रैल 2019 के बीच

रिजल्ट जारी होने की तारीख- 30 अप्रैल 2019